खुले आम उड़ाई जा रही है, यातायात नियमों की धज्जियाँ

0 9
फ़िरोज़ाबाद,। प्रशासन के द्वारा अनेकों प्रयास और जागरूकता अभियान चलाने के बावजूद भी लोगों में यातायात नियमों के प्रति किसी भी प्रकार की सजगता या जागरूकता देखने को अभी तक नहीं मिल रही है।

 

आज भी लोग बेखौफ बिना हेलमेट के दुपहिया वाहन और बिना सीट बेल्ट लगाएं चार पहिया वाहनों पर सवार दिखाई देते हैं।
ऐसे में यह विचारणीय है की प्रशासन अपनी सख्ती को लेकर ढिलाई बरत रहा है या फिरोजाबाद शहर के लोग अपनी सुरक्षा को लेकर कुछ ज्यादा ही बेफिक्र हैं?
क्योंकि ऐसा नहीं कह सकते कि इन लोगों को यातायात नियमों के बारे में मालूम नहीं है यह वही लोग हैं जो शहर से बाहर किसी दिल्ली , आगरा जैसे शहर में जाते हैं तो

इस बात का पूरी तरह ध्यान रखते हैं कि वह हेलमेट पहने और कार में बैठे हैं तो सीट बैल्ट का इस्तेमाल भी करते हैं।
तो फिर फिरोजाबाद में ही क्यों लोग यातायात सुरक्षा नियमों को ताक पर रखकर जान का जोखिम उठाते दिखायी देते है
आज करवा चौथ का पर्व भी है और महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र की कामना करने के लिए व्रत रखती हैं और ईश्वर से प्रार्थना करते हैं कि वह उनके पति को दीर्घायु बनाएं।
मगर यही पत्नियां अपने पति को यह क्यों नहीं रोज सुबह बताती है कि वह घर से बाहर बिना हेलमेट के ना निकले और यदि वह कार स्तेमाल करते हैं तो
सीट बेल्ट अवश्य लगाएं क्योंकि, यह सुरक्षा नियम सरकार को या कानून को किसी प्रकार का फायदा देने के लिए नहीं बनाए गए हैं। यह तो व्यक्ति के स्वयं की सुरक्षा के लिए बनाए गए है और
यह भी पढ़ें: नए-नए शब्दों की खोज में भाजपा का कोई जवाब नहीं: अखिलेश यादव
हम एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते इन कानूनों का पालन करके अपनी जिम्मेदारी का निर्वाहन करना ही चाहिए।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More