पुजारा ने सीरीज में तीसरा और करियर का 18वां शतक लगाया, स्कोरकार्ड देखें

0 11
सिडनी. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार मैच की सीरीज के आखिरी टेस्ट के पहले दिन भारत ने पहली पारी में 90 ओवर में चार विकेट पर 303 रन बनाए। चेतेश्वर पुजारा टॉप स्कोरर रहे। वे 130 रन बनाकर नाबाद रहे।
मंयक अग्रवाल ने भी अहम योगदान दिया। उन्होंने 77 रन बनाए। लोकेश राहुल फिर बड़ी पारी खेलने में नाकाम रहे। वे नौ रन ही बना पाए। विराट कोहली 23 और अजिंक्य रहाणे 18 रन बनाकर पवेलियन लौटे। ऑस्ट्रेलिया की ओर से जोश हेजलवुड सबसे सफल रहे। उन्होंने दो, जबकि मिशेल स्टार्क और नाथन लियोन ने एक-एक विकेट लिए।
पुजारा ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 5वां टेस्ट शतक लगाया
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार मैच की सीरीज के चौथे और आखिरी टेस्ट के पहले दिन चेतेश्वर पुजारा ने शतक लगाया। उन्होंने इस सीरीज में तीसरी बार शतक लगाया। उन्होंने एडिलेड और मेलबर्न टेस्ट में भी शतक लगाए थे। यह पुजारा के करियर का 18वां और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पांचवां टेस्ट शतक है।

पुजारा ने इस सीरीज में जिस-जिस टेस्ट में शतक लगाया, टीम इंडिया ने उसमें जीत हासिल की। इस मैच में उन्होंने मिशेल स्टार्क की गेंद पर चौका मारकर अपना शतक पूरा किया। पुजारा ने इस पारी में अपना अर्धशतक भी चौका मारकर पूरा किया था।
पुजारा ने ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज में पहली बार तीन शतक लगाए। ऐसा कर उन्होंने सुनील गावस्कर के रिकॉर्ड की बराबरी की। गावस्कर ने 1977/78 में खेली गई सीरीज में तीन शतक लगाए थे। हालांकि, ऑस्ट्रेलिया में एक टेस्ट सीरीज में सबसे ज्यादा शतक लगाने के मामले में विराट कोहली नंबर वन भारतीय हैं। उन्होंने 2014/15 में हुई सीरीज में चार शतक लगाए थे।
200+ गेंदें खेलने के मामले में गावस्कर को पीछे छोड़ा
पुजारा ने इस सीरीज में चौथी बार 200 से ज्यादा गेंदें खेलीं। वे ऑस्ट्रेलिया में एक सीरीज में सबसे ज्यादा चार बार 200+ गेंदें खेलने वाले भारतीय बन गए हैं। उन्होंने गावस्कर को पीछे छोड़ा। गावस्कर ने 1977/78 में खेली गई सीरीज में तीन बार 200 से ज्यादा गेंदें खेली थीं।
खराब शुरुआत के बाद मयंक-पुजारा ने संभाली पारी
इस मैच में भारत की शुरुआत खराब रही। उसके सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल पारी के दूसरे ओवर की तीसरी ही गेंद पर आउट हो गए। उस समय भारत का स्कोर सिर्फ 10 रन ही था।
हालांकि, इसके बाद मयंक अग्रवाल और चेतेश्वर पुजारा ने मिलकर टीम के स्कोर 126 रन तक पहुंचाया। इस समय मयंक 77 और पुजारा 33 रन पर खेल रहे थे। इसी स्कोर पर मयंक आउट हो गए।
  • पहला विकेट, (1.3 ओवर) : जोश हेजलवुड ने अपना पहला ओवर फेंका। उनकी पहली गेंद पर राहुल ने चौका जड़ा। दूसरी गेंद पर कोई रन नहीं बना पाए। तीसरी गेंद को राहुल ने इसे डिफेंस करने की कोशिश की, लेकिन गेंद उनके बल्ले का बाहरी किनारा लेते हुए फर्स्ट स्लिप पर शान मार्श के हाथों में पहुंच गई।
  • दूसरा विकेट, (33.6 ओवर) : नाथन लियोन के ओवर की यह गेंद शॉर्ट थी। मयंक ने ओवर की चौथी गेंद पर छक्का जड़ा था। आखिरी गेंद को भी मयंक ने सीमा रेखा के पार भेजने की कोशिश की, लेकिन गेंद बल्ले पर पूरी तरह से आ नहीं पाई और मिशेल स्टार्क ने उनका कैच पकड़ लिया।
  • तीसरा विकेट, (52.5 ओवर) : जोश हेजलवुड की इस गेंद पर भारतीय कप्तान विराट कोहली ने स्क्वायर कट लगाने की कोशिश की, लेकिन गेंद उनके बल्ले पर नहीं आई और ग्लव्स से लगकर उछली। विकेट के पीछे टिम पेन ने छलांग लगाते हुए उनका कैच पकड़ लिया। इस समय टीम का स्कोर 180 रन था।
चौथा विकेट, (70.2 ओवर) : स्टार्क की यह गेंद बाउंसर थी। अजिंक्य रहाणे ने बचने की कोशिश की, लेकिन गेंद उनके अनुमान से ज्यादा उछली और उनके ऊपरी ग्लव्स को छूती हुई पेन के हाथों में पहुंच गई। इस समय टीम का स्कोर 228 रन था।
लोकेश राहुल पिछली आठ पारियों में से छठी बार 10 रन के भीतर आउट
लोकेश राहुल के रूप में भारत का पहला विकेट गिरा। वे नौ रन बनाकर पवेलियन लौटे। वे पिछली आठ पारियों में छठी बार दहाई के अंक तक नहीं पहुंच पाए। उन्होंने पिछले साल अक्टूबर में हैदराबाद में वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट में नाबाद 33 और दिसंबर 2018 में एडिलेड में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 46 रन की पारी खेली थी। उन्होंने ये दोनों स्कोर दूसरी पारी में बनाए थे। इसके अलावा वे किसी भी पारी में 10 रन का आंकड़ा नहीं छू पाए।
भारतीय टीम ने आचरेकर को श्रद्धांजलि दी
भारत रत्न सचिन तेंडुलकर के क्रिकेट गुरु रमाकांत आचरेकर का दो जनवरी को देहांत हो गया। टीम इंडिया ने भी उन्हें श्रद्धांजलि दी। इसी क्रम में सिडनी टेस्ट में भारतीय खिलाड़ी काली पट्टी बांधकर खेले।
बिल की याद में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने काली पट्टी बांधी
ऑस्ट्रेलियाई टीम बांह पर काली पट्टी खेल रही है। ऐसा उसने बिल वाटसन की याद में किया। ऑस्ट्रेलिया के लिए चार टेस्ट खेलने वाले वाटसन का पिछले साल 31 दिसंबर को 87 साल की उम्र में देहांत हो गया था। उन्होंने चार टेस्ट में 17.66 की औसत से 106 रन बनाए थे।
विराट ने टॉस जीतने के बाद कहा, ‘यहां जैसे-जैसे दिन बीतेंगे, बल्लेबाजी करना मुश्किल होगा। हमारे लिए पहले बल्लेबाजी करना ही आदर्श स्थिति होगी। हमने सीरीज जीतने पर विचार नहीं किया है। हमारा फोकस इस टेस्ट पर है और हमारे पास यह टेस्ट जीतने का मौका है। इसके आगे हम कुछ नहीं सोच रहे। रोहित की जगह लोकेश राहुल को शामिल किया गया है। हनुमा विहारी नंबर छह पर बल्लेबाजी करेंगे और उमेश यादव की जगह कुलदीप यादव गेंदबाजी करेंगे।
भारतीय कप्तान ने 21वीं बार बल्लेबाजी चुनी
विराट का बतौर कप्तान यह 46वां टेस्ट है। उन्होंने 22वीं बार टॉस जीता और 21वीं बार बल्लेबाजी चुनी। उन्होंने 2015 में 14 से 18 नवंबर तक बेंगलुरु में खेले गए टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टॉस जीतकर गेंदबाजी चुनी थी। वह मुकाबला ड्रॉ रहा था। वैसे, विराट का बतौर कप्तान यह 123वां अंतरराष्ट्रीय मैच है। इस दौरान उन्होंने 55 बार टॉस जीता और 68 बार हारा। उन्होंने टॉस जीतकर 29 बार बल्लेबाजी और 26 बार गेंदबाजी चुनी है।
फिंच-मिशेल मार्श बाहर
ऑस्ट्रेलिया ने एरॉन फिंच को आखिरी एकादश में शामिल नहीं किया। उसकी जगह उसने ऑलराउंडर को मार्नस लाबुशेन को तरजीह दी। वहीं, मिशेल मार्श की जगह उसने पीटर हैंड्सकॉम्ब को शामिल किया।
पहली बार दोनों ओपनर्स कर्नाटक के रहने वाले
मयंक अग्रवाल और लोकेश राहुल दोनों का ही जन्म कर्नाटक के बेंगलुरु में हुआ। वे अंडर-13 के दिनों से ही साथ-साथ खेल रहे हैं। टेस्ट क्रिकेट में पहली बार भारत के दोनों सलामी बल्लेबाज कर्नाटक के हैं। कुलदीप यादव बाएं हाथ के कलाई के पहले एशियाई स्पिनर हैं, जो ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट खेलने उतरे हैं। वे ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट खेलने वाले ओवरऑल पांचवें बाएं हाथ के कलाई के स्पिनर बने हैं।
टीमें इस प्रकार हैं
भारत : विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे (उप-कप्तान), लोकेश राहुल, मयंक अग्रवाल, चेतेश्वर पुजारा, हनुमा विहारी, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), रविंद्र जडेजा, कुलदीप यादव, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह।
ऑस्ट्रेलिया : टिम पेन (कप्तान), मार्क्स हैरिस, उस्मान ख्वाजा, मार्नस लाबुशेन, शॉन मार्श, ट्रैविस हेड, पीटर हैंड्सकॉम्ब, पैट कमिंस, मिशेल स्टार्क, नाथन लियोन और जोश हेजलवुड।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More