दिनदहाड़े दो बच्चों का अपहरण, एक को मार डाला-दूसरा घायल

0 11
सुल्तानपुर। स्कूल से लौटते वक्त दिन दहाड़े दो बच्चों का अपहरण कर लिया। अपहरणकर्ताओं ने परिजनों से 50 लाख की फिरौती मांगी। फिरौती की रकम न मिलने पर एक बच्चे को मौत के घाट उतार दिया,
जबकि उसके भाई की हालत नाजुक है। उसे लखनऊ मेडिकल कॉलेज स्थित ट्रामा सेंटर में एडमिट कराया गया है। पुलिस ने इस मामले में चार अपहरणकर्ताओं को पकड़ लिया है। इस अपहरण कांड में घर का नौकर शामिल था।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को ट्रामा पहुंचकर बच्चे का हाल जाना है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डॉक्टरों को बच्चे का विशेष ख्याल रखने व इलाज में कोताही न बरतने का निर्देश दिया।
गोसाईगंज थाना क्षेत्र के कटका खानपुर बाजार निवासी राकेश अग्रहरी बड़े कारोबारी हैं। उनके यहां काम करने वाला कोहरा निवासी रघुवर यादव गुरुवार को रोज की तरह दोनों बच्चों प्रियांश (6) और दिव्यांश (8) को स्कूल से घर वापस लेकर आ रहा था।
लेकिन, रास्ते में ही रघुवर यादव ने अपने साथियों के साथ मिलकर दोनों बच्चों का अपहरण कर लिया। जब बच्चे काफी देर तक घर नहीं पहुंचे तो परिजनों को चिंता हुई। इसकी जानकारी पुलिस को दी गई।
देर शाम अपहरणकर्ताओं ने परिजनों को फोन कर 50 लाख की फिरौती मांगी, लेकिन रकम नहीं मिलने की भनक लगते ही दोनों बच्चों को मार-मार कर अधमरा कर दिया। इस दौरान छोटे बच्चे प्रियांश की मौत हो गई।
वहीं, बच्चों की तलाश लगे कटका चौकी इंचार्ज और कोतवाली नगर की पुलिस गोमती नदी के किनारे स्थित मकान में पहुंचे। वहां पर देखा कि एक बच्चे को फावड़े से मारकर बोरे में बांधकर रखा गया था।
जिसमें एक बच्चा तो मृत पाया गया, लेकिन दूसरे दिव्यांश की हालत नाजुक देख आननफानन में लखनऊ स्थित मेडिकल कॉलेज के ट्रामा ले जाया गया।
रघुवर कई वर्षो से कारोबारी राकेश के यहां काम करता था। रघुवर ने ही घर आकर दोनों बच्चों के अपहरण की सूचना दी और परिजनों के साथ देर शाम तक बच्चों की तलाश में लगा रहा।
लेकिन पुलिस ने जब तफ्तीश आगे बढ़ाई तो रघुवर की अपहरण में संलिप्तता उजागर हुई। पचास लाख की फिरौती मांगने के लिए जिस फोन और प्राइवेट गाड़ी का प्रयोग हुआ था, उसीके जरिए पुलिस ने रघुवर को धर दबोचा।
अपहरणकर्ताओं ने प्रियांश की हत्या कर दी थी और दिव्यांश को ठिकाने लगाने वाले थे कि, पुलिस गोमती किनारे पहुंच गई। पुलिस व अपहरणकर्ताओं के बीच मुठभेड़ हुई।
इस दौरान पुलिस से की गोली से दो बदमाश घायल हुए। पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ की जा रही है। इस दौरान बच्चों को मारने के दौरान बिजली का झटका दिए जाने की बात भी सामने आई है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को एक दिवसीय दौरे पर अमेठी में रहेंगे। वहां पूर्वांचल एक्सप्रेसवे स्थलीय निरीक्षण करेंगे। इसके बाद सुल्तानपुर की तरफ रवाना होंगे।
इससे पहले शुक्रवार सुबह सीएम योगी ट्रामा सेंटर पहुंचे और घायल बच्चे का हाल जाना है। सीएम ने कहा कि कहा चारों अपराधियों को पकड़ लिया गया है। सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी, बाकि इलाज के लिए भी प्रशासन को निर्देश दिए गए हैं।
यह भी पढ़ें: भगवान हनुमान ‘ब्राह्मण’ थे,सुग्रीव कुर्मी, बाली यादव, विश्वकर्मा समुदाय से थे नल-नील’: भाजपा सांसद हरिओम पांडे
मुख्यमंत्री जिस वक्त मीडिया को अपना बयान दे रहे थे, उसी वक्त अयोध्या की एक महिला ने इलाज में लापरवाही के लिए शोर मचाया। मुख्यमंत्री योगी ने महिला को अपने पास बुलाकर पूरे मामले को समझा और प्रशासन को महिला के भाई का इलाज करवाने का निर्देश दिया।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More