महिला मंत्री पर लगा संगीन आरोप, कर्मचारी ने की शिकायत, पुलिस विभाग के हाथ-पांव फूले

28

राष्ट्रीय जजंमेंट संवाददाता

भोपाल. मध्य प्रदेश की पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर पर डकैती का आरोप लगा है. वन मंत्री विजय शाह ने इस मामले की जांच के आदेश दिए हैं. वन विभाग के एक कर्मचारी की शिकायत पर जांच की जा रही है. जांच दल बुधवार को महू के लिए रवाना होगा.
वन विभाग के कर्मचारी ने प्रदेश की संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर के खिलाफ डकैती की शिकायत की थी. शिकायत सामने आने के बाद अब वन मंत्री विजय शाह ने जांच के आदेश दिए हैं. यह जांच पीसीसीएफ स्तर के अधिकारी से कराई जाएगी. जानकारी के मुताबिक, जांच के लिए टीम का गठन भी कर दिया गया है।

बड़गोंदा पुलिस थाने में वन विभाग की तरफ से एक आवेदन दिया गया था. उसमें मंत्री उषा ठाकुर और उनके समर्थकों पर जब्त की गई जेसीबी और ट्रैक्टर-ट्रॉली ले जाने का आरोप है. यह आवेदन राम सुरेश दुबे नाम के वनपाल ने दिया था. उनका आवेदन और एक वीडियो भी सामने आया था. इस आवेदन के बाद पुलिस विभाग और वन विभाग के हाथ-पांव फूले गए थे. मामला क्षेत्र के आड़ा पहाड़ का है, जहां पिछले दिनों बड़े पैमाने पर अवैध उत्खनन हो रहा था.

10 जनवरी को वन क्षेत्र महू की बड़गौंदा बीट के कक्ष क्रमांक 66 में अवैध रूप से खुदाई की जा रही थी. यहां से निकलने वाली मुरम बिना अनुमति के ही सड़क बनाने के लिए इस्तेमाल की जा रही थी. शिकायत मिलने पर इस मामले में कार्रवाई करते हुए एक जेसीबी क्रमांक एमपी 41 एचई 05 76, ट्रैक्टर और ट्रॉली को जब्त कर प्रकरण कायम किया और इन वाहनों को वन परिसर में लाकर खड़ा कर दिया गया.

बड़गौंदा पुलिस को दिए गए आवेदन में लिखा गया है कि 11 जनवरी को वनरक्षक जौहर सिंह ने सूचना दी थी कि मंत्री उषा ठाकुर, मनोज पाटीदार, सुनील यादव, वीरेंद्र आंजना, अमित जोशी सुनील पाटीदार, प्रदीप पाटीदार के साथ करीब 15 से 20 लोग वन परिसर में जबरन घुसे और जेसीबी और ट्रैक्टर-ट्रॉली अपने साथ ले गए. वनपाल राम सुरेश दुबे ने इस मामले में मंत्री सहित सभी लोगों पर एफआईआर दर्ज कर जेसीबी ट्रैक्टर और ट्रॉली बरामद करने का आवेदन बड़गौंदा पुलिस को दिया है.

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More