माफिया छोटा राजन के गुर्गे की हत्या के आरोपित हुए गिरफ्तार

0 14
प्रयागराज : माफिया छोटा राजन के गुर्गे नीरज बाल्मीकि के हत्यारोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। करेली के रहने वाले रानू ने घटना को अंजाम दिया था।

 

जेल में उसका नीरज के साथ विवाद हुआ था। आरोपित रानू का ससुराल धूमनगंज क्षेत्र में बताया जाता है। रानू को भी गोली लगी थी।
वह घर में ही अपना इलाज करवा रहा था। रानू और उसके अन्य साथियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।
माफिया छोटा राजन के गुर्गे नीरज वाल्मीकि की हत्या आकाशवाणी चौराहे पर दुर्गा पूजा पंडाल में मंगलवार की रात चार हमलावरों ने बम और गोलियां बरसाकर कर दी थी।
पूरा घटनाक्रम पंडाल में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया था। उसमें दो शूटरों की तस्वीर एकदम साफ थी बाकी दो उनकी पहचान नहीं हुई तो एसएसपी नितिन तिवारी ने गुरुवार को दोनों शूटरों पर 25 -25 हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया था।
शूटरों की फोटो प्रतापगढ़, कौशांबी, गोपीगंज, भदोही, वाराणसी और आसपास के जिलों में भेजकर पुलिस सुराग लगा रही थी।
क्राइम ब्रांच समेत पुलिस की तीन टीमें ताबड़तोड़ छापामारी कर रही थीं। एक टीम प्रतापगढ़ तो दूसरी कौशांबी भेजी गई है।
शूटर हत्या को अंजाम देने के बाद कैंट के तपोवन पार्क की तरफ होकर भागे थे। एक शूटर ने अपनी लाल टोपी पार्क के पास फेंकी थी।
गुरुवार को पुलिस ने रसूलाबाद, सलोरी के दो लाजों में छापेमारी कर पूछताछ की। नीरज यहां रहने वाले एक छात्र से अक्सर बात करता था। एक शूटर भी जख्मी हुआ है।
इसलिए पुलिस ने धूमनगंज के एक अस्पताल में पहुंच कर पूछताछ की। किसी ने सूचना दी थी कि शूटर वहां पहुंचे थे, हालांकि सूचना गलत निकली। पुलिस कौशांबी के प्राइवेट अस्पतालों में भी पूछताछ करा रही थी।
इसी बीच पुलिस को कामयाबी मिल गई। करेली के रहने वाले रानू को पकड़ लिया गया, जिसने घटना को अंजाम दिया था। जेल में उसका नीरज के साथ विवाद हुआ था।

यह भी पढ़ें: पीलीभीत: सिर्फ 500 रुपये के लिए ‘धरती के भगवान’ ने गर्भ में पल रहे बच्चे की ले ली जान

रानू ही था जिसको हत्याकांड के दौरान गोली लगी थी। पुलिस से बचने के लिए वह किसी अस्पताल में नहीं भर्ती हुआ था, घर में ही अपना इलाज करवा रहा था। रानू और उसके अन्य साथियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More