भ्रष्‍टाचारी हैं RBI के नए गवर्नर शक्तिकांत दास: सुब्रह्मण्यन स्वामी

0 7
भाजपा नेता सुब्रह्मण्यन स्वामी ने शनिवार को आरोप लगाया कि भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास भ्रष्टाचार में शामिल थे और उन्होंने हाल में शीर्ष पद पर हुई उनकी नियुक्त को “हैरानी भरा” बताया। हालांकि उन्होंने “भ्रष्टाचार” के बारे में कोई ब्यौरा नहीं दिया।
बता दें कि वह पहले भी ऐसे आरोप लगा चुके हैं। स्वामी ने इंडियन स्कूल ऑफ बिजनेस के संवाद सत्र में कहा, “आरबीआई के नए गवर्नर अत्यधिक भ्रष्ट हैं। मैंने उन्हें (वित्त मंत्रालय से) हटवा दिया था। मैं शक्तिकांत दास को भ्रष्ट व्यक्ति कह रहा हूं। मैं हैरान हूं कि जिस व्यक्ति को भ्रष्टाचार के चलते मैंने वित्त मंत्रालय से हटवा दिया था उसे गवर्नर बनाया गया।”
बता दें कि शक्तिकांत दास भारतीय प्रशासनिक सेवा के 1980 बैच के अधिकारी हैं। शक्तिकांत दास नोटबंदी के बाद आर्थिक गतिविधियों को सामान्य बनाने में अहम भूमिका निभा चुके हैं। पूर्व वित्त सचिव और वित्त आयोग के सदस्य रहे शक्तिकांत दास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भरोसेमंद बताए जाते हैं।
हाल ही में उर्जित पटेल के इस्तीफे के बाद खाली हुई रिजर्व बैंक की कुर्सी की जिम्मेदारी शक्तिकांत दास को सौंपी गई है। उन्होंने कहा, “आईआईएम-बी में वित्त के पूर्व प्रोफेसर आर. वैद्यनाथन बेहतर हो सकते थे। वह संघ के पुराने व्यक्ति भी हैं। वह हमारे व्यक्ति हैं।
यह भी पढ़ें: शत्रुघ्न सिन्हा, लालू की पार्टी से लड़ सकते हैं चुनाव
अगले साल आम चुनाव के बारे में पूछे जाने पर स्वामी ने कहा कि भगवा पार्टी सत्ता में आएगी क्योंकि नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ “कोई सत्ता विरोधी लहर नहीं है।” कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर एक सवाल पर स्वामी ने आरोप लगाया कि
उनके पास ब्रिटिश नागरिकता है और वह प्रधानमंत्री नहीं बन सकते। हालांकि राहुल गांधी इस आरोप को पहले ही खारिज कर चुके हैं। राम मंदिर के मुद्दे पर भाजपा सांसद ने कहा कि,
“तमिलनाडु में भी व्यापक स्तर पर यह आकांक्षा है कि राम मंदिर बनाया जाए और हम बनाएंगे।” सुब्रमण्यन स्वामी इससे पहले भी अपने बयानों को लेकर चर्चा में रह चुके हैं।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More