देश के 23 उद्योगपतियों के साल 2018 मे डूब गए 1.47 लाख करोड़ रुपए

0 11
दुनियाभर में उद्योगपतियों की संपत्ति में बेशुमार बढ़ोतरी होने के बाद इस साल इसमें भारी कमी आई है। दुनिया के 500 अमीरों की संपत्ति बताने वाले ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स की रिपोर्ट के मुताबिक इस साल एशिया में 128 अमीरों की संपत्ति 137 अरब डॉलर तक घट गई।
इस साल चीन के तकनीकी सेक्टर को खासी मार पड़ी है। इससे भारत और दक्षिण कोरिया जैसे देश भी अछूते नहीं रहे। ब्लूमबर्ग ने अपनी रिपोर्ट में 40 चीनी व्यापारियों में से एक तिहाई की संपत्ति में कमी दिखाई है। वांग जियानलिन के वांडा ग्रुप की संपत्ति में 10.8 अरब डॉलर की कमी आई है।
यह एशिया में सबसे अधिक है। जेडी डॉट कॉम के फाउंडर रिचर्ड लियू को भी शेयर बाजार में भारी-उतार चढ़ाव और अमेरिका-चीन के बीच ट्रेड वॉर के चलते खूब नुकसान हुआ है। उनकी संपत्ति 4.8 अरब डॉलर में से लगभग आधी रह गई।
साल 2012 में रैंकिंग शुरु होने के बाद से ऐसा पहली बार है जब इस क्षेत्र में लोगों की संपत्ति में कमी देखने को मिली है। इससे वैश्विक व्यापार क्षेत्र तनाव में है और इसने खासी चिंताएं जाहिर की है।
दुनिया में सबसे बड़े स्टीलमेकर्स में शुमार भारतीय कारोबारी लक्ष्मी मित्तल की संपत्ति को सबसे अधिक नुकसान हुआ है। उनकी संपत्ति 29 फीसदी के साथ 5.6 अरब डॉलर कम हो गई। कारोबारी दिलीप सांघवी की संपत्ति में 4.6 अरब डॉलर की कमी आई है।
यह भी पढ़ें: देश के बारे में चिंता जाहिर करना गुनाह है क्‍या? जो मुझे गद्दार ठहरा रहे: नसीरुद्दीन शाह
रिपोर्ट में भारत के 23 अमीरों की संपत्ति कम होने की बात कही गई है। दक्षिण कोरिया के दिग्गज व्यापारी भी संपत्ति की कमी से बच नहीं सके। यहां देश के सात सबसे बड़े अमीरों की संपत्ति 17.2 अरब डॉलर कम हो गई।
सैमसंग इलेक्ट्रोनिक्स को कंट्रोल करने वाले पिता-बेटा ली कुन-ही और जे वाई यी की संपत्ति में एक तिहाई से ज्यादा की कमी आई है। हॉन्ग कॉन्ग के व्यापारियों की संपत्ति इस साल खूब कम हुई।
कुल अचल संपत्ति के मामले में सबसे अमीर ली का सिंग की संपत्ति इस साल 6 अरब डॉलर कम हो गई। जब दूसरे सबसे अमीर ली शाउ की की संपत्ति में 3.3 अरब रुपए की कमी आई।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More