31 दिसंबर तक ब्लॉक हो सकता है आपका डेबिट और क्रेडिट कार्ड

0 11
नई दिल्ली। आरबीआई के दिशानिर्देशों के मुताबिक मैगस्ट्राइप कार्ड को वर्ष 2018 तक ईएमवी चिप कार्ड से बदलवाना होगा, क्योंकि मैगस्ट्राइप कार्ड की वैलिडिटी तब तक है।
चूंकि मैगस्ट्राइप कार्ड कार्ड-स्किमिंग, कार्ड क्लोनिंग इत्यादि जैसी धोखाधड़ी की वजह बन रहा है। ईएमवी चिप बेस्ड कार्ड से इस तरह के मुद्दों के सुलझने की उम्मीद है।
आपको इन्हें हर हाल में 31 दिसंबर 2018 से पहले ईएमवी चिप बेस्ड कार्ड से बदलवाना होगा, नहीं तो आपके कार्ड को ब्लॉक भी किया जा सकता है।
सभी मैगास्ट्राइप कार्ड 31 दिसंबर 2018 के बाद काम करना बंद कर देंगे। जानकारी के लिए आपको बता दें कि ईएमवी चिप कार्ड को डेबिट एवं क्रेडिट कार्ड से होने वाले फ्रॉड को रोकने के लिए पेश किया गया है।
नया चिप वाला एटीएम कार्ड फ्रॉड से बचाने में कारगर है। अगर आपके पास पुराना डेबिट कार्ड है तो बैंक की ओर से इसे बदलने को लेकर आपके पास मैसेज आते होंगे। बैंक की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक नए कार्ड लिए ग्राहकों को कोई शुल्क नहीं देना होगा।
जानकारी के लिए आपको बता दें कि पुराने एटीएम और डेबिट कार्ड के पीछे की तरफ एक काली पट्टी होती है। यही काली पट्टी मैग्नेटिक स्ट्रिप है, जिसमें आपके खाते की पूरी जानकारी दर्ज होती है।
आरबीआई के मुताबिक मैग्नेटिक स्ट्रिप कार्ड अब पुरानी टेक्नोलॉजी हो चुकी है और इसे बनाना भी बंद किया जा चुका है। ये कार्ड पूरी तरह से सुरक्षित नहीं हैं, इस वजह से इन्हें बंद कर दिया गया है।
ग्राहक ईएमवी कार्ड के लिए बैंक के होम ब्रांच जा सकते हैं या इसके अलावा, ग्राहक चाहे तो इंटरनेट बैंकिंग के जरिए भी इस कार्ड को बदलने के लिए आवेदन कर सकते हैं।
यह भी पढ़ें: अंधेरी के ईएसआइसी अस्पताल में लगी भीषण आग, 8 की मौत, 100 से ज्यादा घायल
यदि आपको मालूम करना है कि आपका कार्ड मैगस्ट्रिप कार्ड है या नहीं तो इसके लिए आप अपने कार्ड पर बाईं ओर गौर करें, अगर वहां कोई चिप नहीं लगी है तो वह मैगस्ट्रिप कार्ड है।
अगर आपके कार्ड के ऊपर बाईं ओर कोई चिप लगी है तो यह कार्ड EMV चिप डेबिट कार्ड है।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More