पांच राज्‍यों के विधानसभा चुनाव नतीजे आने शुरू

0 21
शिवराज सरकार के कई मंत्री पिछड़े हुए हैं। भाजपा शासित राजस्थान में भी कांग्रेस उम्मीदवारों ने मंगलवार को रुझानों में स्‍पष्‍ट बहुमत हासिल कर लिया है, छत्तीसगढ़ में भी कांग्रेस आगे चल रही है। तेलंगाना के गौरव के नाम पर और अपनी कल्याणकारी योजनाओं के साथ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) मंगलवार को विधानसभा चुनावों में जबरदस्त जीत की ओर बढ़ रही है।
चुनाव से पहले हुए तमाम सर्वेक्षणों और एग्जिट पोल को धता बताते हुए टीआरएस ने 119 सदस्यीय विधानसभा में 87 सीटों पर बढ़त बना ली है। मिजोरम में सत्तारूढ़ कांग्रेस, मिजो नेशनल फ्रंट (एमएनएफ) से पीछे चल रही है।
मध्‍य प्रदेश में कांग्रेस 115 और बीजेपी 105 सीट पर आगे चल रही है। राजस्‍थान में कांग्रेस+ 103 और बीजेपी 69 सीट पर बढ़त बनाए हुए है। छत्‍तीसगढ़ में कांग्रेस 66 और बीजेपी 14 सीट पर आगे हैं। मिजोरम में कांग्रेस को 5 तो एमएनएफ को 26 सीट पर लीड मिली हुई है। तेलंगाना में टीआरएस स्‍पष्‍ट बहुमत की ओर बढ़ रही है। यहां उसे 86 सीटों पर बढ़त हासिल है जबकि कांग्रेस+ की लीड 22 सीटों पर है।
पश्चिम बंगाल, बिहार व कर्नाटक के मुख्यमंत्रियों ने मंगलवार को तेलंगाना विधानसभा चुनाव में टीआरएस की भारी जीत पर तेलंगाना के मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव को बधाई दी। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार व
कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच.डी.कुमारस्वामी ने टेलीफोन पर तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के अध्यक्ष को अपनी बधाई दी। मुख्यमंत्री कार्यालय से जारी एक बयान के अनुसार, वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष व आंध्र प्रदेश में विपक्ष के नेता वाई.एस.जगनमोहन रेड्डी व शारदा पीठम के प्रमुख स्वरूपानंदेन्द्र सरस्वती ने भी चंद्रशेखर राव को बधाई दी।
केन्द्रीय मंत्री श्रीपद नाइक ने कहा कि ये नतीजे ‘‘स्थानीय मुद्दों’’ पर आधारित है और यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार के कामकाज पर जनादेश नहीं है। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने जनता के फैसले को स्वीकार कर लिया है।
नाइक ने पीटीआई से फोन पर कहा, ‘‘यह नरेन्द्र मोदी नीत सरकार के खिलाफ जनादेश नहीं है बल्कि स्थानीय मुद्दों के कारण ऐसे नतीजे सामने आए हैं।’’ आयुष मंत्री ने कहा, ‘‘लेकिन कुछ चीजें हैं जिनका आत्मविश्लेषण किए जाने की आवश्यकता है। लोकतंत्र में हमें जनता के आदेश को स्वीकार करना होगा। भाजपा ने नतीजे स्वीकार कर लिए हैं।’’
छत्तीसगढ़ में मंगलवार को कांग्रेस पार्टी सत्ता में वापस आने के लिए तैयार है। राजस्थान में भी कांग्रेस सत्तारूढ़ भाजपा से आगे है जबकि मध्य प्रदेश में दोनों प्रमुख पार्टियों के बीच कांटे की टक्कर है। लेकिन तेलंगाना और मिजोरम में कांग्रेस पिछड़ गई है। चुनाव बाद एग्जिट पोल के नतीजे छत्तीसगढ़ में सही होते दिख रहे हैं। छत्तीसगढ़ में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़-बसपा के गठबंधन के बिना कांग्रेस बढ़त बनाए हुए है।
मध्य प्रदेश में भाजपा और कांग्रेस के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिल रही है। राज्य में भाजपा पिछले 15 वर्षो से सत्ता में है। मतगणना केंद्रों से आ रहे रुझानों में राज्य में कांग्रेस आगे है जबकि भाजपा पीछे चल रही है। तेलंगाना में कांग्रेस पिछड़ रही है।
सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) ने कांग्रेस के नेतृत्व वाले गठबंधन को बहुत पीछे छोड़ दिया है। मिजोरम में एमएनएफ 40 में से 26 सीटें जीतती दिख रही है, जबकि कांग्रेस केवल छह सीटों पर आगे है। यह एकमात्र पूर्वोत्तर राज्य था, जहां कांग्रेस सत्ता में थी।
तेलंगाना में सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) राज्य में हुए विधानसभा चुनाव में जहां शानदार जीत की ओर बढ़ रही है, कांग्रेस ने मंगलवार को इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन(ईवीएम) में छेड़छाड़ की आशंका व्यक्त की है। कांग्रेस के राज्य प्रमुख उत्तम कुमार रेड्डी ने मांग करते हुए कहा कि वोटर वेरीफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल(वीवीपैट) की सौ प्रतिशत गिनती की जाए।
उन्होंने कांग्रेस के सभी उम्मीदवारों से वीवीपैट की गिनती के संबंध में निर्वाचन अधिकारियों को पत्र देने के लिए कहा। पीपुल्स फ्रंट की अगुवाई कर रही कांग्रेस राज्य में सिर्फ 21 विधानसभा सीटों पर आगे चल रही है, जबकि टीआरएस यहां 87 सीटों पर आगे है।
बीजेपी सांसद संजय काकादे ने कहा क‍ि उन्‍हें पता था क‍ि राजस्‍थान और छत्‍तीगढ़ में हार मिलेगी लेक‍िन एमपी के ट्रेंड चौंकाने वाला है। उन्‍होंने कहा, ‘मुझे लगता है क‍ि हम विकास का इशू भूल गए जिसे मोदीजी ने 2014 में उठाया था। राम मंदिर, स्‍टैचू और नाम बदलने पर फोकस किया गया।’
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साले संजय सिंह मसानी कांग्रेस उम्मीदवार के तौर पर बालाघाट के वारा-सिवनी विधानसभा क्षेत्र से तीसरे स्थान पर चल रहे हैं। यहां मुख्य मुकाबला भाजपा के डॉ. योगेंद्र निर्मल और कांग्रेस के बागी निर्दलीय उम्मीदवार प्रदीप जायसवाल के बीच देखने को मिल रहा है। मसानी ने चुनाव से पहले भाजपा छोड़कर कांग्रेस की सदस्यता ली थी। भाजपा के उम्मीदवार डॉ. निर्मल निर्दलीय उम्मीदवार से आगे बने हुए हैं। वहीं मसानी तीसरे नंबर पर बने हुए हैं।
कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी अपनी मां व यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी से मुलाकात करने उनके आवास, 10 जनपथ पहुंचे हैं। वहीं समाजवादी पार्टी के रामगोपाल यादव ने मीडिया से कहा, “बीजेपी की गलत नीतियों ने देश को बर्बाद कर दिया है और यह उसी का नतीजा है। तस्‍वीर साफ होने के बाद गठबंधन पर कोई बात होगी।”
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा कि 2019 में होने जा रहे ‘‘फाइनल मैच’’ से पहले, ‘‘सेमीफाइनल’’ में भाजपा कहीं नहीं नजर आती और लोकतंत्र में ‘‘मैन ऑफ द मैच’’ हमेशा जनता होती है। उन्होंने एक के बाद एक कई ट्वीट कर कहा, ‘‘लोगों ने भाजपा के खिलाफ मत डाले। यह जनादेश है और इस देश के लोगों की जीत है।
यह लोकतंत्र की जीत और अन्याय, अत्याचार, संस्थानों की बर्बादी, एजेंसियों के दुरुपयोग, गरीब लोगों, किसानों, युवाओं, दलितों, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी), अल्पसंख्यकों एवं सामान्य वर्ग के लिए कोई काम नहीं करने के खिलाफ हासिल जीत है।’’ फिलहाल दिल्ली में मौजूद और विपक्षी नेताओं के साथ बैठक कर रहीं तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता ने यह भी कहा कि
ये रुझान 2019 के आम चुनावों के परिणाम की ओर इशारा करते हैं। ममता ने ट्वीट किया ‘‘सेमीफाइनल से साबित होता है कि सभी राज्यों में भाजपा कहीं भी नहीं है। यह, 2019 में होने जा रहे फाइनल मैच का असली लोकतांत्रिक संकेत है। लोकतंत्र में अंतत: जनता ही हमेशा ‘मैन ऑफ द मैच’ होती है।’’
मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव की मतगणना के दौरान ईवीएम के 11 मशीनों में मॉक पोल के दौरान दर्ज किए गए वोट को हटाया (रिमूव) नहीं गया। इसके चलते इन मशीनों की गणना के लिए चुनाव आयोग से अनुमति ली गई है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वी. एल. कांताराव ने संवादादाताओं को बताया कि राज्य की 230 सीटों में से कुछ में एक और अधिकांश में दो राउंड की गणना हो चुकी है।
शुरुआत में बालाघाट, नरसिंहपुर और झाबुआ में 11 ईवीएम में मॉक पोल में दर्ज किए गए वोटों को नहीं हटाए जाने की बात सामने आई है। इसके लिए चुनाव आयोग से अनुमति ली गई है। वहां से निर्देश मिलने के बाद इन मशीनों की गिनती होगी।
कांताराव ने आगे बताया कि इससे पहले 114 केन्द्रों की मशीनों में भी इसी तरह की बात सामने आई थीं कि मॉक पोल के दौरान दर्ज वोटों को हटाया नहीं गया। इस संदर्भ में वीवीपेट की गिनती के साथ वोटों की गिनती के साथ निर्देश मिले। उसी आधार पर इन केन्द्रों की मशीनों की गिनती कराई जा रही है।
राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा, ‘‘ राहुल गांधी एक साल पहले आज ही के दिन अध्यक्ष बने थे। यह जीत तोहफा है।’’ यह पूछे जाने पर कि क्या वह मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं तो उन्होंने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री के बारे में फैसला कांग्रेस नेतृत्व, राहुल गांधी और विधायक करेंगे।’’
तेलंगाना विधानसभा चुनाव में तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) की भारी जीत की तस्वीर साफ होने पर यहां पार्टी के मुख्यालय में जश्न का माहौल है। टीआरएस अध्यक्ष व मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव की तस्वीरों को पकड़े हुए तेलंगाना भवन में जुटे पार्टी कार्यकर्ता ‘जय तेलंगाना’ और ‘केसीआर जिंदाबाद’ के नारे लगाते देखे जा सकते हैं। कार्यकर्ताओं व समर्थकों ने आतिशबाजी की, मिठाइयां बांटी तो महिलाओं सहित कुछ उत्साहित कार्यकर्ता नाचते हुए भी नजर आए।
मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनावों के लिए मतगणना के रुझानों में कांग्रेस के बेहतरीन प्रदर्शन के मद्देनजर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा और दावा किया कि
केंद्र एवं राज्य की भाजपा सरकारों के खिलाफ जनता में निराशा है। आजाद ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा, ‘‘ भाजपा की केंद्रीय और राज्य सरकारों के खिलाफ निराशा है और यह निराशा बढ़ती जाएगी। केंद्र सरकार के पास कुछ महीने का समय है, चाहे तो वह जनसरोकारों की बात कर ले।’’
विधानसभा चुनाव के बाद पांच राज्यों से आ रही शुरुआती रुझानों के बीच समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार सुबह ट्वीट किया, “जब एक और एक मिलकर बनते हैं ग्यारह… तब बड़े-बड़ों की सत्ता हो जाती है नौ दो ग्यारह…” गौरतलब है कि समाजवादी पार्टी ने मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव में अपने कुछ प्रत्याशी उतारे थे और
इसके लिए उन्होंने जबर्दस्‍त चुनाव प्रचार भी किया था। अभी तक मिले रुझानों में मध्य प्रदेश में समाजवादी पार्टी के 2 प्रत्याशी अपने नजदीकी उम्मीदवारों से कुछ आगे चल रहे हैं, मध्य प्रदेश में शुरुआती रुझानों में बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार भी कुछ आगे चल रहे हैं। मध्य प्रदेश में अगर किसी पार्टी को बहुमत न मिला तो सपा और बसपा किंग मेकर की भूमिका निभा सकते हैं।
इन राज्यों में कुल 678 विस सीटें हैं, जिसमें म.प्र में 230, छत्तीसगढ़ में 90, राजस्थान में 200, मिजोरम में 40 और तेलंगाना में 119 सीटें हैं। मौजूदा समय में मिजोरम में कांग्रेस की सरकार है। तेलंगाना में विधानसभा भंग होने से पूर्व तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) की सरकार थी, जबकि शेष तीन राज्यों में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार है।
कांग्रेस की प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया मतगणना के दिन भोपाल में रहेंगे। सिंधिया 11 दिसंबर को दिल्ली से विशेष विमान से सुबह सवा नौ बजे भोपाल पहुंचेंगे। सिंधिया पूरे दिन भोपाल में ही रहने वाले हैं। विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के अलावा उनका कांग्रेस दफ्तर में भी मौजूद रहने का कार्यक्रम है। तय कार्यक्रम के अनुसार, सिंधिया नतीजे वाले पूरे दिन राजधानी में रहेंगे और रात 10 बजे एयर इंडिया की नियमित उड़ान से दिल्ली के लिए प्रस्थान कर जाएंगे।
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऑडियो ब्रिज (आडियो कांफ्रेंस) के जरिए उम्मीदवारों, पार्टी पदाधिकारियों से कहा कि चुनाव में पार्टी भारी विजय की ओर बढ़ रही है, और अब अगली बातचीत 11 दिसंबर को होगी, जब एक-दूसरे को बधाई देंगे। उन्होंने कहा, “हमारे कार्यकर्ताओं ने पूरे चुनाव अभियान में परिश्रम किया है और हमारी सरकारों के काम को भी व्यापक समर्थन मिला है। इसी कारण से कांग्रेस के लोग बौखलाए हुए हैं।”
एग्जिट पोल के अनुमानों के आधार पर पूर्व सांसद रघुनंदन शर्मा ने कहा कि अगर राज्य में भाजपा को पिछले चुनाव के मुकाबले नुकसान होता है तो इसकी जिम्मेदारी भी शिवराज को लेनी चाहिए। भाजपा के पूर्व सांसद शर्मा का एक बयान सोमवार को राजनीति के गलियारों में चर्चा में है।
सुबह आठ बजे मतगणना शुरू की जाएगी। पहले डाक मतपत्रों की गिनती प्रारंभ होगी और 8. 30 बजे से ईवीएम मशीनों में मतों की गिनती की जाएगी। प्रत्येक राउंड के बाद परिणाम घोषित किये जाएंगे। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि किसी भी व्यक्ति को मतगणना हॉल में मोबाइल फोन, कैल्कुलेटर, पेन ड्राइव आदि सामग्री ले जाने की अनुमति नहीं होगी।
छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय ने प्रदेश कांग्रेस की उस याचिका को खारिज कर दिया है जिसमें मंगलवार को होने वाली मतगणना प्रक्रिया में सभी निर्वाचन क्षेत्रों के कम से कम 50 फीसदी मतदान केंद्रों में वीवीपैट पर्ची की गिनती सुनिश्चित करने की मांग की गई थी।
अधिवक्ता सतीश चन्द्र वर्मा ने बताया कि प्रदेश कांग्रेस के महासचिव गिरीश देवांगन ने बीते गुरुवार को छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय में एक याचिका दाखिल कर मांग की थी कि ईवीएम की सुरक्षा के लिए चुनाव आयोग के दिशा निर्देश का सख्ती से पालन किया जाए तथा सभी निर्वाचन क्षेत्रों के कम से कम 50 फीसदी मतदान केंद्रों में वीवीपैट पर्ची की गिनती सुनिश्चित की जाए।
बीकानेर के बज्जू थाना क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री देवींसिंह भाटी तथा उनके एक दर्जन समर्थकों के खिलाफ सात दिसम्बर को चुनाव के दौरान मारपीट करने एवं वाहनों को नुकसान पहुंचाने के आरोप में दो अलग-अलग मामले दर्ज किए गए है।
थानाधिकारी विक्रम सिंह ने सोमवार को बताया कि परिवादी लक्ष्मण सिंह और गणपतराम की ओर से आठ दिसम्बर को दर्ज कराई गई रिपोर्ट में पूर्व मंत्री देवींसिंह भाटी, विश्वजीत सिंह, जालम सिंह भाटी, राकेश माथुर, राजू मोदी, विष्णु जोशी, गनमेन उदयभान सहित अन्य के खिलाफ मारपीट करने, गाड़ियां तोड़ने और जान से मारने की नीयत से हमला कर गाडी तोड़ने का आरोप लगाया गया
राजस्थान की करणपुर विधानसभा सीट के एक मतदान केंद्र पर सोमवार को हुए पुनर्मतदान में 86.92 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले। निर्वाचन विभाग के अनुसार श्रीगंगानगर जिले की करणपुर विधानसभा के मतदान केंद्र संख्या 163, राजकीय प्राथमिक विद्यालय, 18 बीबी में पुनर्मतदान कराया गया। उल्लेखनीय है कि राज्य की 200 में से 199 सीटों पर सात दिसम्बर को मतदान हुआ था और केवल इस एक मतदान केन्द्र पर ही दोबारा मतदान कराये जाने का फैसला किया गया था।
मध्‍य प्रदेश विधानसभा चुनाव की मतगणना सुबह 8 बजे से शुरू होगी। हालांकि एग्जिट पोल के नतीजे देख कांग्रेस उत्‍साहित है और उसके नेता जीत तय मान रहे हैं। समर्थक-नेता संभावित जीत का क्रेडिट एमपी कांग्रेस अध्‍यक्ष कमलनाथ को दे रहे हैं। प्रदेश कांग्रेस दफ्तर के बाहर एक होर्डिंग लगा है।
यह भी पढ़ें: राहुल गांधी ने इन तरीकों से, कांग्रेस को किया फिर जीवित
इसमें कमलनाथ को जीत का श्रेय दिया गया है। इसमें लिखा है- “मध्यप्रदेश की जनता व कार्यकर्ताओं का धन्यवाद, कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार का अभिनंदन”। होर्डिग में कमलनाथ के अलावा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित कई नेताओं की तस्वीरें लगी हुई हैं।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More