गौतम गंभीर ने क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट से लिया संन्यास

0 11
नई दिल्ली। गौतम गंभीर ने ट्वीट कर क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास लेने का ऐलान किया। गंभीर ने अपना आखिरी अंतरराष्ट्रीय मैच 2016 में राजकोट में खेला था।
उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ नौ से 13 नवंबर तक खेले गए उस टेस्ट की पहली पारी में 29 और दूसरी में कोई रन नहीं बनाया था। गंभीर ने भारत की ओर से 58 टेस्ट, 147 वनडे और 37 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं।
गंभीर ने 58 टेस्ट में 41.95 की औसत से 4154 रन बनाए हैं। उनके टेस्ट में नौ और वनडे में 11 शतक हैं।
टेस्ट में उनका हाइएस्ट 206 और वनडे में 150* रन है। टी-20 में वे एक भी शतक नहीं लगा पाए। इस फॉर्मेट में उनका हाइएस्ट 75 रन रहा।
गंभीर ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘सबसे कठिन फैसले अक्सर भारी मन से लिए जाते हैं। और एक भारी मन के साथ, मैं एक ऐसा ऐलान करने का फैसला किया, जो मेरे जीवन का सबसे खतरनाक है।
37 साल के गंभीर ने अप्रैल 2003 में ढाका में बांग्लादेश के खिलाफ वनडे खेलकर अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर की शुरुआत की थी। उसमें उन्होंने 11 रन बनाए थे। भारत वह मैच 200 रन से जीता था।
गंभीर ने अपने टेस्ट करियर की शुरुआत नवंबर 2004 में मुंबई में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ की थी। उस मैच में भी वे खास प्रभाव नहीं छोड़ पाए थे। उन्होंने पहली पारी में तीन और दूसरी पारी में एक रन बनाए थे।
उन्होंने अपना दूसरा टेस्ट नवंबर 2004 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला। कानपुर में हुए उस मैच में उन्होंने 96 रन की पारी खेली। गंभीर ने अपना पहला टेस्ट शतक दिसंबर 2004 में बांग्लादेश के खिलाफ चिटगांव में लगाया था।
वनडे में पहले शतक के लिए गंभीर को 31 महीने इंतजार करना पड़ा था। उन्होंने अपना पहला वनडे शतक छह नवंबर 2005 को अहमदाबाद में श्रीलंका के खिलाफ लगाया था। हालांकि, वह मैच श्रीलंका ने पांच विकेट से जीता था।
गंभीर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 10000+ रन बनाने वाले 13वें भारतीय हैं। उनसे ज्यादा अंतरराष्ट्रीय रन बनाने वाले भारतीयों में सचिन तेंडुलकर, राहुल द्रविड़, विराट कोहली,
सौरव गांगुली, वीरेंद्र सहवाग, महेंद्र सिंह धोनी, मोहम्मद अजहरुद्दीन, सुनील गावस्कर, युवराज सिंह, रोहित शर्मा, वीवीएस लक्ष्मण, दिलीप वेंगसरकर हैं।
गंभीर ने 2008 से 2010 के बीच लगातार 11 टेस्ट में कम से कम एक अर्धशतक जरूर लगाया। ऐसा कर उन्होंने विवियन रिचर्ड्स के रिकॉर्ड की बराबरी की।
रिचर्ड्स ने 1976-1977 के दौरान ऐसा किया था। उन्होंने 2009-2010 के दौरान लगातार पांच टेस्ट शतक लगाए।
2009 में वे आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर भी पहुंचे। गंभीर ने इसी दौरान टेस्ट में एक अहम पारी खेली।
यह भी पढ़ें: जनप्रतिनिधियों के खिलाफ लंबित मामलों के लिए बने स्पेशल कोर्ट: सुप्रीम कोर्ट
उन्होंने मार्च 2009 में नेपियर में न्यूजीलैंड के खिलाफ फॉलोऑन खेलते हुए 643 मिनट क्रीज पर बिताए और 137 रन बनाए और टीम इंडिया को हार से बचाया।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More