तमिलनाडु तट से टकराया ‘गज’ तूफान

0 16
चेन्नई,। कडलोर और नागपट्टनम में आज स्कूल, कॉलेज बंद रहे। इस दौरान 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से हवा चल सकती है। किसी भी अनहोनी से निपटने के लिए प्रशासन ने अपनी तैयारियां कर रखी हैं।
चक्रवाती तूफान गज तमिलनाडु के पम्बन और कडलोर के बीच तट से टकरा गया है। तमिलनाडु और पुड्डुचेरी में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया था।
प्रशासन ने राहत एवं बचाव टीम को अलर्ट पर रखा है। नागपट्टनम जिले में अब तक 1313 लोगों को राहत केंद्रों में भेज दिया गया। इसके साथ ही निचले इलाके में रहने वालों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा जा रहा है।
तमिलनाडु के कई जिलों में सरकारी तंत्र को हाई अलर्ट पर रखा गया है। तटरक्षक बल और नौसेना कर्मी रामेश्वरम और पमबन के तटीय इलाकों में हालात पर करीब से नजर रख रहे हैं। 
गुरुवार को तूफान नागपट्टनम और कराईकल से 140 किमी पूर्व में दक्षिण-पश्चिम खाड़ी के ऊपर सक्रिय था और यह पमबन की ओर बढ़ रहा था। मौसम विभाग ने बताया कि
तूफान प्रभावित इलाकों में हवाओं की रफ्तार 80-100 किमी प्रति घंटे तक रह सकती है। गुरुवार शाम से ही नागपट्टनम जिले के कई हिस्सों और निकटवर्ती इलाकों में बारिश शुरू हो गई।
निचले इलाकों में रह रहे लोगों को नागपट्टनम के राहत केंद्रों में स्थानांतरित कर दिया गया। तूफान की जद में आने वाले संभावित जिलों में एनडीआरएफ और राज्य बलों को तैनात कर दिया गया है।
राज्य के सात जिलों में शैक्षणिक संस्थान बंद कर दिए गए हैं। तमिलनाडु सरकार ने लोगों की मदद के लिए दो हेल्पलाइन नंबर 1070 (राज्य स्तरीय) और 1077 (जिला स्तरीय) भी जारी किए हैं।
तूफान के मद्देनजर दक्षिण रेलवे ने चार ट्रेनों को रद कर दिया, जबकि चार के मार्ग में परिवर्तन किया है।
यह भी पढ़ें: उत्तराखंड भाजपा विधायक गणेश जोशी महिलाओं को रुपये देते दिखाई दिए
उधर, पुडुचेरी में मुख्यमंत्री वी. नारायणसामी ने हालात से निपटने के लिए विभिन्न विभागों के साथ तैयारियों का जायजा लिया। 

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More