कुड्डालोर में भारी बारिश शुरू, 1,313 लोग किए गए शिफ्ट

0 4
नौसेना के एक अधिकारी ने पीटीआई को बताया था कि दो भारतीय नौसेना के जहाजों-रणवीर और खानजर को ​​मानवीय सहायता और संकट से निपटने के लिए सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्रों के लिए तैनात किया गया है।
चक्रवात तूफान ‘गाजा’ आज शाम को कुड्डालोर और पंबन के बीच पहुंचेगा जिससे तमिलनाडु में भारी बारिश होगी। राज्य सरकार द्वारा 30,000 से ज्यादा बचाव कर्मियों को स्टैंडबाय मोड रखा जाता है और पुडुचेरी और कराइकल क्षेत्रों के सभी शैक्षिक संस्थान आज बंद हैं।
इसके अलावा डोर्नियर एयरक्राफ्ट और एक पी 8 आई विमान भी पुनर्जागरण, बचाव और दुर्घटना से निकालने के लिए स्टैंडबाय पर है। आईएमडी ने कुछ गाइडलाइन जारी की हैं।
आज के लैंडफॉल को ध्यान में रखते हुए यह अगले 24 घंटों तक तमिलनाडु, पुडुचेरी और आंध्र प्रदेश के तटों पर मछली पकड़ने की गतिविधियों को निलंबित करने का सुझाव दिया है।
गाजा तूफान से निपटने के लिए प्रशासन तैयारियों के साथ ही अलर्ट पर है। इसके लिए अभी 4 एनडीआरएफ की और 4 टीएनडीआरएफ यानि कुल मिलाकर 8 टीमें तैनात की गई हैं।

इसके अलावा लोगों की सुरक्षा के लिए 380 और जानवरों की सुरक्षा के लिए 159 रिस्पॉन्डर्स नियुक्त किए गए हैं। MET के मुताबिक गाजा साइक्लॉन आज ही जमीन से टकराएगा।
गाजा तूफान की वजह से तमिलनाडु के कुड्डालोर में भारी बारिश शुरू हो गई है। गाजा साइक्लॉन की वजह से दक्षिण रेलवे ने चेन्नई-मन्नारगुड़ी एक्सप्रेस, करायकल एक्सप्रेस और त्रिवेंद्रम एक्सप्रेस जैसी कई ट्रेनों का परिचालन गुरुवार को रद्द किया।

गाजा साइकलोन तेजी से आगे बढ़ रहा है। नॉर्थ ईस्ट नागापट्टिनम से करीब 180 किलोमीटर दूर है। यह कोस्ट को आधी रात के करीब में क्रॉस करेगा।
सरकार ने कहा कि अब तक 1,313 लोगों को नागपट्टिनम जिले में राहत केंद्र में शिफ्ट कर दिया गया है। निचले इलाकों में रहने वाले सभी लोगों को जिलों में राहत केंद्रों में भेजने का काम चल रहा है।
यह भी पढ़ें: योगी के मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह ने अर्दली से साफ करवाई सैंडिल
नागपट्टिनम, तिरुवुरुर, कुड्डालोर और रामानथपुरम समेत सात जिलों में शैक्षिक संस्थानों में एक दिन की छुट्टी घोषित की गई थी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More