There is a feeling of both affection and respect in speaking the Hindi language- Vishal Jain Pawa
हिंदी दिवस पर बुंदेलखंड प्राथमिक शिक्षक संघ ललितपुर के तत्वाधान में ऑनलाइन संगोष्ठी का आयोजन
ललितपुर। अंतराष्ट्रीय हिंदी दिवस पर बुंदेलखंड प्राथमिक शिक्षक संघ के तत्वाधान में आयोजित ऑनलाइन संगोष्ठी में जिला प्रवक्ता विशाल जैन पवा ने कहा हिन्दी है हम वतन है हिंदोस्तां हमारा, भारतीय संस्कृति और सभ्यता की प्रतीक हिन्दी भाषा शिक्षा और साक्षरता के लिए सर्वथा उपयोगी एवं अभिव्यक्ति का हृदयस्पर्शी सशक्त माध्यम है।
हिंदी देश के लिए व्यक्तिगत सामुदायिक और सामाजिक रूप से महत्वपूर्ण है, जिसके बोलने में स्नेह एवं सम्मान दोनों का बोध होता है। हिंदी भाषा देश को अनेकता में एकता के सूत्र में बांधे हुए है। हिन्दी दिवस पर प्रत्येक व्यक्ति को हिंदी भाषा बोलने, हिंदी लिखने, भारत को इंडिया नहीं भारत बोलने एवं हिंदी में ही कार्य करने के क्षेत्र में जागरूकता फैलाने की आवश्यकता है।
जिलाध्यक्ष मनोहर सिंह बुंदेला ने कहा हिन्दी संस्कृत की लाडली बेटी है, देश की आन है, हिंदुस्तान की शान है। प्रदेश सह प्रवक्ता वीर दुबे ने कहा हिंदी आज़ादी के वीर सपूतों की लाडली और स्वतंत्रता की कहानी है। महामंत्री गजराज सिंह परमार ने कहा हिंदी मातृभाषा है, हमारा मान, सम्मान, अभिमान है। उपाध्यक्ष सुरेंद्र पाल सिंह यादव ने कहा हिंदुस्तान के माथे की बिंदी है, यह सुंदर, मीठी, सरल और सहज भाषा है।
उपाध्यक्ष आज़ाद सिंह बघेल ने कहा हिंदी हमारी एकता और अखंडता की अनुपम परंपरा है, सब जन को एक सूत्र में पिरोने वाली डोर है। कोषाध्यक्ष रामप्रकाश तिवारी ने कहा हिंदी स्वतंत्रता की अलख जगाने वाली भाषा है, गुलामी की जंजीर तोड़ने वाली हिंदुस्तान की जीवन रेखा है। अंत में सभी ने गर्व के साथ हिंदी बोलने, हिंदी लिखने, भारत को इंडिया नहीं भारत बोलने एवं हिंदी में अधिकतम कार्य करने के लिए जन-जन को प्रेरित करने का संकल्प लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.