Big decision, Vivo company will not get sponsorship of IPL due to heavy opposition
चौतरफा विरोध के बाद आखिरकार ची़नी कंपनी वीवो को इंडियन प्रीमियर लीग के टाइटल स्पॉन्सरशिप से हाथ धोना पड़ा। मीडियो रिपोर्ट्स की माने तो चीनी मोबाईल कंपनी अब आईपीएल को स्पॉन्सर नहीं करेगी। 19 सितंबर से यूएई में खेले जाने वाले इस टूर्नामेंट के लिए बीसीसीआई अब नया प्रयोजक तलाशेगा। आईपीएल का वीवो के साथ पांच साल का करार 2022 में खत्म होना है। कॉन्ट्रैक्ट के तहत बोर्ड को हर साल 440 करोड़ रुपए मिलते थे।
राष्ट्रीय स्वयं सेवक (आरएसएस) से संबद्ध स्वदेशी जागरण मंच (एसजेएम) ने तो देश के नागरिकों से IPL के बहिष्कार की अपील तक कर डाली थी। एसजेएम के सह-संयोजक अश्वनी महाजन ने एक बयान में कहा था कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) और आईपीएल की संचालन समिति ने चीनी सैनिकों के साथ झड़प में शहीद हुए भारतीय सैनिकों का अनादर किया है।
महाजन ने कहा, ‘जब देश अर्थव्यवस्था को चीनी प्रभुत्व से मुक्त बनाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है, सरकार चीन को हमारे बाजारों से दूर रखने के लिए सभी प्रयास कर रही है, ऐसे में आईपीएल यह फैसला देश की जनभावना के खिलाफ है।
आईपीएल संचालन समिति ने बीते रविवार यानी 2 अगस्त को टूर्नामेंट के प्रमुख प्रायोजकों के रूप में चीनी कंपनियों के साथ बने रहने का फैसला किया था। चीनी मोबाइल फोन निर्माता कंपनी वीवो इस टी-20 लीग की ‘टाइटल’ प्रायोजक है। वीवो ने पांच साल के इस करार के लिए बीसीसीआई को 2,000 करोड़ रुपये से अधिक का भुगतान किया था। बोर्ड के इस फैसले से सोशल मीडिया पर भी काफी रोष देखने को मिला था।
लोग बीसीसीआई को जमकर ट्रोल कर रहे थे। पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के सैनिकों के बीच हुई भिड़ंत के बाद से ही कई लोगों ने चीनी सामानों का बहिष्कार करने की बात कही थी। वहीं, बीसीसीआई ने भी करार की समीक्षा का वादा किया था।
19 सितंबर से शुरू होगा IPL 2020
बता दें कि आईपीएल 19 सितंबर से 10 नवंबर तक यूएई में होगा। टूर्नामेंट में 10 डबल हेडर यानी एक दिन में 2-2 मैच होंगे। शाम के मैच पुराने शेड्यूल से आधा घंटा पहले यानी 7.30 बजे से शुरू होंगे। दोपहर के मैच 3.30 बजे से होंगे। 10 नवंबर को मंगलवार का दिन है। ऐसा आईपीएल के इतिहास में पहली बार होगा, जब फाइनल वीक-डे में खेला जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.