Mobile service was launched in India on this day

 आज जिस मोबाइल फोन को हम अपने साथ हर वक्‍त लिए रहते हैं और दूसरों से बात करते हैं उसकी शुरुआत 25 वर्ष पहले आज के ही दिन (31 जुलाई 1995) हुई थी। मोबाइल सेवा के तौर पर इसकी पहली घंटी और पहली बातचीत तत्‍कालीन दूरसंचार मंत्री सुखराम और पश्चिम बंगाल के मुख्‍यमंत्री ज्‍योति बसु के बीच हुई थी।

यह कॉल कोलकाता के राइटर्स बिल्डिंग से दिल्ली स्थित संचार भवन के बीच की गई थी। इससे पहले पश्चिम बंगाल के पूर्व मुख्यमंत्री ज्योति बसु ने कलकत्ता में मोदी टेल्सट्रा कंपनी के मोबाइल नेट सर्विस की शुरुआत की थी। दूरसंचार मंत्रालय के मुताबिक जुलाई 2019 तक भारत दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी टेलिकम्‍यूनिकेशन मार्केट है। मंत्रालय के रिकॉर्ड के मुताबिक भारत में इस वक्‍त तक मोबाइल यूजर्स की संख्‍या 1168.32 मिलियन थी।
आपको बता दें कि भारत में मोबाइल सर्विस शुरू करने के लिए सरकार ने कुल आठ कंपनियों को लाइसेंस दिए थे। भारत में मोबाइल सेवा शुरूआत करने वाली पहली कंपनी का नाम मोदी टेल्स्ट्रा था। कंपनी ने अपनी सर्विस का नाम मोबाइलनेट रखा था।
इस सर्विस को लोगों तक पहुंचाने के लिए कंपनी ने नोकिया के मोबाइल सेट की मदद ली थी। बाद में इस कंपनी ने स्पाइस टेलीकॉम के नाम से सेवाएं दी थीं। मोदी टेल्स्ट्रा भारत के मोदी ग्रुप और ऑस्ट्रेलिया की टेलिकॉम कंपनी टेल्स्ट्रा का जॉइंट वेंचर था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.