• विशाखापट्टनम में हिंदुस्तान शिपयार्ड लिमिटेड (एचएसएल) के कैंपस में एक क्रेन गिरने से 11 लोगों की मौत हो गई। इस हादसे में एक व्यक्ति गंभीर रूप से जख्मी भी हो गया है। पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार मीणा ने बताया कि हादसा दोपहर 12 बजे हुआ। एक ट्रेड यूनियन के लीडर का कहना है कि क्रेन ओवरलोड थी। शायद इसी वजह से हादसा हुआ।

पुलिस के मुताबिक, हादसा तब हुआ जब क्रेन की मरम्मत का काम चल रहा था। अफसर और क्रेन के ऑपरेटर्स उसका मुआयना करने गए थे। बताया जा रहा है कि मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है, क्योंकि ट्रेन के नीचे कुछ और लोगों के फंसे होने की आशंका है। शिपयार्ड के अफसर अटेंडेंस रिकॉर्ड वेरिफाई कर रहे हैं ताकि पता चल सके कि हादसे के वक्त वहां कितने लोग थे।

79 साल पुरानी कंपनी है एचएसएल

एचएसएल देश का सबसे पुराना शिपयार्ड है। इसकी स्थापना 1941 में सिंधिया स्टीमशिप नेविगेशन कंपनी के तहत उद्योगपति वालचंद हीराचंद ने की थी। 1961 में शिपयार्ड का राष्ट्रीयकरण हो गया। तब से इसका नाम हिंदुस्तान शिपयार्ड लिमिटेड है। 2010 से इसका स्वामित्व रक्षा मंत्रालय के पास है। इससे पहले यह शिपिंग मिनिस्ट्री के अधीन थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.