साल 2018 में मुजफ्फरपुर के सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी ने अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (प्रथम) सह सब जज (प्रथम) गौरव कमल के कोर्ट में एक मुकदमा दाखिल किया था। उन्होंने गुजरात में बिहारियों पर अत्‍याचार तथा और वहां से भगाने के आरोप में वहां के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी एवं स्थानीय विधायक व बिहार कांग्रेस के सह प्रभारी अल्पेश ठाकोर के खिलाफ कोर्ट में परिवाद दाखिल किया गया था।

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी और अल्पेश ठाकोर के खिलाफ कांटी थाने में केस दर्ज किया गया है। यह केस अहियापुर थाना क्षेत्र के भिखनपुर गांव के सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी की ओर से दाखिल मुकदमे के आधार पर दर्ज किया गया है। बता दें कि मुकदमे में उन्‍होंने गुजरात में बिहारियों के साथ बुरा बर्ताव और वहां से जबरन निकाले जाने का आरोप लगाया है।

यह है मामला
साल 2018 में मुजफ्फरपुर के सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी ने अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी (प्रथम) सह सबजज (प्रथम) गौरव कमल के कोर्ट में एक मुकदमा दाखिल किया था। उन्होंने गुजरात में बिहारियों पर अत्‍याचार तथा और वहां से भगाने के आरोप में वहां के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी एवं स्थानीय विधायक व बिहार कांग्रेस के सह प्रभारी अल्पेश ठाकोर के खिलाफ कोर्ट में परिवाद दाखिल किया गया था।
तमन्ना हाशमी ने मीडिया को बताया कि कांटी थाने पर बुलाकर उनका बयान दर्ज किया गया है। कांटी थानाध्यक्ष कुंदन कुमार ने कहा है कि एफआइआर दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है।
सीएम पर लगाया था ये आरोप
कोर्ट में दाखिल परिवाद में तमन्ना हाशमी ने कहा था कि नौ अक्टूबर 2018 को विभिन्न टीवी चैनलों पर यह खबर प्रसारित की जा रही थी कि बिहार के लोगों के साथ बुरा बर्ताव किया जा रहा है उन्हें जबरन गुजरात से भगाया जा रहा है। बिहारी होने के नाते इस खबर से वे आहत हुए हैं। अल्पेश ठाकोर पर इसका आरोप लगाते हुए उन्‍होंने मुकदमे में यह भी आरोप लगाया कि देश तोडने के इस प्रयास में वहां के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने साथ देने का काम किया है।
अंशुल शर्मा राष्ट्रीय जजमेंट संवाददाता ✍️

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.