भ्रष्टाचार में राजस्व विभाग नं.-1, पुलिस दूसरे स्थान पर: CM विजय रुपाणी

0 12
गुजरात/गांधीनगर। सत्तारूढ़ भाजपा सरकार के एक साल पूरा होने के उपलक्ष्य में राजस्व विभाग द्वारा आयोजित कार्यक्रम में एक हजार लोगों को एनए की मंजूरी देते हुए मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने सरकारी विभागों में फैले भ्रष्टाचार पर कड़ी टिप्पणी की।
उन्होंने कहा कि 25 साल पहले भ्रष्टाचार नहीं था। अधिकारी रिश्वत लेते समय डर से कांपते थे। अब प्रदेश में 360 डिग्री तक भ्रष्टाचार फैल गया है। अधिकारी सामने से घूस मांगते हैं।
अहमदाबाद के कन्वेन्शन हॉल में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि 25 साल पहले अधिकारी कहते थे कि घूस के पैसे मेरी पत्नी और संतान घबराते हैं।
अब घूस न देने पर अधिकारी लोगों काे सामने से बुलाकर कहते हैं कि हमारे भी पत्नी और संतान हैं। भ्रष्टाचार में राजस्व विभाग नंबर वन और पुलिस दूसरे स्थान पर है।
लोग भी अब भ्रष्टाचार को स्वीकार कर लिए हैं। पहले की सरकारों ने भ्रष्टाचार को रोकने का कोई प्रयास नहीं किया।
रूपाणी ने दावा किया कि हमने भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए कई कदम उठाए हैं। राजस्व विभाग में ऑन लाइन सिस्टम ले आए। अब जन्म-मृत्यु का प्रमाण पत्र ऑनलाइन देने की व्यवस्था की जाएगी।
महानगरपालिकाओं को नल कनेक्शन के लिए लोगाें को कार्यालय के चक्कर न लगाने पड़े इसके लिए कामकाज को ऑनलाइन करने का आदेश दिया है।
पावागढ़ और द्वारका समेत तीर्थ स्थलों के विकास कामों में हुए भ्रष्टाचार पर यात्राधाम बोर्ड के तत्कालीन मुख्य सचिव और आरटीआई एक्टिविस्ट के बीच बातचीत का वीडियो सामने आने के बाद राज्य सरकार ने जांच के आदेश दिए हैं।
भ्रष्टाचार पर खुलकर बातचीत करने वाले यात्राधाम बोर्ड के तत्कालीन सचिव अनिल पटेल पर कड़ी कार्रवाई हो सकती है।
यात्राधाम विकास बोर्ड के सचिव रह चुके और अब ग्राम विकास में अतिरिक्त सचिव के पद पर कार्यरत अनिल पटेल ने आरटीआई एक्टिविस्ट के साथ बातचीत में तीर्थ स्थलों के विकास कामों में करोड़ों रुपए के भ्रष्टाचार और
मंत्री सहित उच्च पदों पर आसीन लोगों के मिलीभगत होने का आरोप लगाए हैं। राज्य सरकार ने इसे गंभीरता से लिया है। बुधवार को हुई कैबिनेट की बैठक में मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने जांच के आदेश दिए हैं।
मुख्य सचिव जेएन सिंह ने पर्यटन विभाग और यात्राधाम बोर्ड के अधिकारियों से पावागढ़ में हुए काम की वीडियो रिकार्डिंग, फोटोग्राफ, एजेंसियों को चुकाई गई रकम की जानकारी मांगी है।
दूसरी ओर भ्रष्टाचार पर खुलकर बात करने वाले अनिक पटेल पर कार्रवाई होने का खतरा मंडरा रहा है। उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा कि विभाग में काम करते समय अधिकारी भ्रष्टाचार की बातें नहीं करते हैं जब
उनका दूसरे विभागों में तबादला कर दिया जाता है तब सरकार पर छींटाकशी करते हैं, यह ठीक नहीं है। ऐसे अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
25 साल से भाजपा सत्ता में है, भाजपा के राज में भ्रष्टाचार बढ़ा है : देश कांग्रेस प्रवक्ता मनीष दोषी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने खुद स्वीकार किया है कि 25 साल पहले अधिकारी रिश्वत लेने से घबराते थे। इससे जाहिर होता है कि भाजपा के राज में भ्रष्टाचार बढ़ा है। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि गांव से लेकर गांधीनगर तक भ्रष्टाचार फैला है।
यह भी पढ़ें: अब दिल्ली के चार रेलवे स्टेशनों के हेल्प डेस्क पर लखनवी अंदाज में होगा अनाउंसमेंट
यात्राधाम बोर्ड में भ्रष्टाचार की वीडियो सामने आने के बाद बायड के कांग्रेस विधायक धवल सिंह झाला ने शामलाजी मंदिर के काम में भ्रष्टाचार होने की मुख्यमंत्री से शिकायत की है। विधायक झाला ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है।

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More