देश में सभी वाहनों पर पंजीकरण पर अनिश्चितकाल तक के लिए रोक लगा दी गई है। नेशनल इनफॉरमेटिक्स सेंटर (NIC) ने केन्द्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के निर्देश के बाद वाहनों के रजिस्ट्रेशन पर रोक लगाई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार ये नया नियम बीते 2 मई से ही देश भर में लागू कर दिया गया है। सरकार के इस नए नियम से देश भर के कई उद्योग प्रभावित हुए हैं।
मंत्रालय ने ये रोक इसलिए लगाया है क्योंकि हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट यानि एचएसएनपी को ‘वाहन’ डाटा के साथ नहीं जोड़ा गया था। इसके बाद NIC ने वाहनों के रजिस्ट्रेशन के लिए प्रयोग में लाए जा रहे पैन इंडिया एप्लिकेशन को ब्लॉक कर दिया है। जिसके चलते वाहनों का रजिस्ट्रेशन अब नहीं किया जा सकता है।
सरकार के इस फैसले के बाद जहां देश भर में वाहनों के रजिस्ट्रेशन पर रोक लग गई है वहीं कुछ ऐसे राज्य भी हैं जहां पर इस नियम को प्रभावी नहीं किया गया है। इन राज्यों में मध्य प्रदेश, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना शामिल हैं। बता दें कि, ये राज्य अपने वाहनों का रजिस्ट्रेशन स्वयं करते हैं और इसके लिए इनके पास अलग सॉफ्टवेयर है। जिसकी मदद से इन राज्यों में वाहनों का पंजीकरण किया जा सकता है।
दरअसल, सरकार ने बीते 1 अप्रैल से ही देश भर में चलने वाले सभी वाहनों पर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट यानि एचएसएनपी लगाना अनिवार्य किया है। ये एक खास तरह का नंबर प्लेट होगा जिसमें इनबिल्ट सिक्योरिटी फीचर्स होंगे। इसके लिए सड़क परिवहन मंत्रालय ने पहले ही एक अधिसूचना जारी की थी, और देश भर में एक ही तरह के नंबर प्लेट के प्रयोग की घोषणा की थी।
ये एल्यूमीनियम की बनी हुई एक खास प्रकार की नंबर प्लेट है। ये पूरी तरह से टेंपर प्रूफ होगा यानी कि इससे कोई भी छेड़छाड़ नहीं की जा सकती है। इस नंबर प्लेट की एक और विशेषता ये भी है कि इसकी दूसरी कॉपी नहीं बनाई जा सकती है। लेजर मार्क और होलोग्राम जैसे सेफ्टी फीचर्स को शामिल किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.