मेरठ के कंकरखेड़ा में व्यापारी की अपहृत बेटी का मामला लखनऊ और दिल्ली तक पहुंच गया।
युवती के परिजनों ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को ट्वीट कर बेटी की बरामदगी की मांग की है।
वहीं, जिस आरोपी युवक नदीम पर अपहरण का आरोप है,
उसके तार दुबई के बाद अब पाकिस्तान से जुड़े बताए गए हैं।
पुलिस के अनुसार आठ नवंबर की शाम युवती की आखिरी लोकेशन दिल्ली एयरपोर्ट की बताई गई है।
उसके बाद से युवती का मोबाइल बंद आ रहा है।
कंकरखेड़ा के एक कालोनी निवासी व्यापारी की बेटी कुछ समय से एक प्ले स्कूल में पढ़ाने जाती थी।
चार नवंबर को ही युवती का पासपोर्ट बना था।
आठ नवंबर की सुबह युवती संदिग्ध परिस्थितियों में गायब हो गई।
परिजनों ने नौ नवंबर को कंकरखेड़ा थाने पहुंचकर अपहरण के बारे में बताया।
लेकिन पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज कर मामला दबा दिया।
रविवार को युवती के परिजनों ने सांसद राजेंद्र अग्रवाल से मदद मांगी तो एसएसपी के निर्देश पर साइबर सेल, सर्विलांस सेल और कंकरखेड़ा पुलिस सक्रिय हुई।
दुबई और पाकिस्तान लोकेशन
सोमवार को पुलिस टीम जांच के लिए दिल्ली पहुंची। बड़ा सवाल था कि युवती पासपोर्ट के साथ कहां गायब हुई।
एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि जांच में सामने आया कि युवती नदीम नाम के युवक की फेसबुक फ्रेंड है।
आरोपी नदीम ने इंस्टाग्राम पर जो अपने फोटो पोस्ट किए हैं,
उनकी लोकेशन दुबई और पाकिस्तान की बताई जाती है।
ऐसे में पुलिस का मानना है कि युवक पाकिस्तान या दुबई का हो सकता है
या फिर वहां रहा हो।
आरोपी ने लिखा.. आई लव पाकिस्तान
पुलिस अधिकारी के अनुसार
इंस्टाग्राम पर आरोपी नदीम खान ने आई लव पाकिस्तान भी लिखा है।
आठ नवंबर की सुबह युवती संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हुई थी
और उसी दिन शाम को उसकी लोकेशन दिल्ली एयरपोर्ट पर मिली है।
पुलिस ने वहां की सीसीटीवी फुटेज जुटाने के लिए एयरपोर्ट के अधिकारियों से भी संपर्क किया।
दुबई जाने से इंकार नहीं
पुलिस के अनुसार युवती के दुबई जाने से भी इंकार नहीं किया जा सकता है।
युवती आरोपी नदीम खान से फेसबुक और इंस्टाग्राम से जुड़ी हुई थी।
साइबर सेल की टीम ने फेसबुक मुख्यालय से रिकॉर्ड मांगा है।
नदीम कहां का रहने वाला है और कहां रह रहा है,
इसके बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।
एयरपोर्ट अधिकारियों ने कहा है कि वे मंगलवार शाम तक मेरठ पुलिस को पूरी रिपोर्ट दे देंगे।
नौकरी का दिया गया झांसा
अपहृत युवती के भाई ने बताया कि पता चला है कि युवती की सहेलियों से बात होती थी।
सहेलियों ने परिजनों को बताया कि युवती अक्सर उनसे सऊदी जाने की बात करती थी।
जिस युवक से वह फेसबुक व इंस्टाग्राम पर चैटिंग करती थी, वह कंकरखेड़ा का है
और उसने दुबई में नौकरी की बात कही थी।
अपनी आईडी से ही फेसबुक व इंस्टाग्राम एकांउट बनाया हुआ है।
इस पाकिस्तानी युवक का नाम नदीम खान है।
परिजनों ने बताया कि उनकी बेटी जब घर से गई थी तो अपने साथ अपने मूल कागज, सात हजार रुपये और मोबाइल व पासपोर्ट ले गई थी।
बेटी के बारे में कोई सुराग न लगने की वजह से परिजन काफी चिंतित हैं।
परिजनों का कहना है कि चाहे जो भी हो जाए,
वह अपनी बेटी को दुबई से भी लेकर आएंगे।
इसके लिए उन्हें जहां तक भागदौड़ करनी पड़ेगी, वह करेंगे।
पासपोर्ट का किया था विरोध
परिजनों ने बताया कि जब पासपोर्ट ऑफिस से कॉल आई थी तो तब पता चला कि उनकी बेटी ने पासपोर्ट के लिए आवेदन किया था।

Also read : सरकार जल्द ही लगाम लगाने जा रही है ई-कॉमर्स कंपनियों पर

परिजनों ने इसका विरोध भी किया।
चार नवंबर को पासपोर्ट बनकर घर आ भी गया।
जिस पर युवती ने अपने परिजनों ने कहा था कि नौकरी में कहीं भी पासपोर्ट की जरूरत पड़ सकती है।
इस मामले में परिजनों ने कंकरखेड़ा पुलिस और एलआईयू पर भी लापरवाही के आरोप लगाए हैं।
हिंदू संगठनों में आक्रोश
पूरे मामले में भाजपा नेताओं के साथ बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने कंकरखेड़ा पुलिस को घेरने की तैयारी कर ली है।
आरोप है कि इंस्पेक्टर कंकरखेड़ा ने दो दिन तक मामला दबाए रखा और उच्च अधिकारियों को नहीं बताया।
सांसद तक मामला पहुंचा, जिसके बाद एसएसपी की फटकार के बाद कंकरखेड़ा इंस्पेक्टर की नींद टूटी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.