If the public school employees are not reinstated in 3 days, the municipality will sit on the protest
नैनीताल। यहां के प्रतिष्ठित अम्तुल्स पब्लिक स्कूल प्रबंधन ने गत 18 जुलाई को अपने छात्रावास की बंदी की घोषणा के साथ 35 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया था। तभी से वह धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। इस दौरान उन्हें विभिन्न वर्गों व पार्टियों से व्यापक समर्थन मिल रहा है।
बुधवार को इस मामले में नैनीताल नगर पालिका अध्यक्ष सचिन नेगी ने विद्यालय प्रबंधन को कर्मचारियों की बहाली के लिए तीन दिन का समय देते हुए चेतावनी देते हुए कहा कि ऐसा ना होने पर वह विद्यालय कर्मचारी संघ के साथ विद्यालय परिसर में ही धरना देंगे। पालिकाध्यक्ष सचिन नेगी ने इस संबंध में प्रदेश के मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव शिक्षा, कुमाऊं मंडलायुक्त एवं नैनीताल के डीएम को भी पत्र भेजकर सूचना दी है।
वहीं कांग्रेस, भाजपा के बाद आम आदमी पार्टी की नैनीताल नगर इकाई ने बुधवार को नगर के अम्तुल्स पब्लिक स्कूल कर्मचारी यूनियन द्वारा चलाए जा रहे धरना प्रदर्शन स्थल में जाकर अपना पूर्ण समर्थन एवं सहयोग व्यक्त किया।
इस दौरान नैनीताल विधानसभा प्रभारी प्रदीप कुमार दुम्का व नगर अध्यक्ष शाकिर अली के नेतृत्व में गए पार्टी के शिष्टमंडल ने कर्मचारी यूनियन के पदाधिकारियों से वार्ता की, उन्होंने कहा कि नैनीताल नगर के पब्लिक स्कूलों एवं बड़े होटलों द्वारा उनके यहां वर्षों से कार्यरत कर्मचारियों का कोरोना काल में उत्पीड़न किया जा रहा है। जिसे बर्दाश्त ना कर इस अन्यायपूर्ण कार्यवाही का पुरजोर विरोध किया जायेगा। उन्होंने प्रधानाचार्या से मुलाकात कर कहा कि यदि कर्मचारियों का उत्पीड़न बंद नहीं किया तो आम आदमी पार्टी इसके विरोध में आंदोलन को बाध्य होगी।
वहीं नैनीताल की पूर्व विधायक एवं महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य, कृष्ण पांडे, महेश शर्मा व सभासद निर्मला चंद्रा ने भी कर्मचारियों से वार्ता की साथ ही प्रधानाचार्या को भी इस मामले को लेकर ज्ञापन दिया।
ऐजाज हुसैन ब्यूरो उत्तराखंड की रिपोर्ट 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.