Cabinet minister says Scindia will become chief minister, video went viral
भोपाल। मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार के कैबिनेट मंत्री तुलसी सिलावट की एक बार फिर जुबान फिसल गई। इस बार उन्होंने ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रदेश का मुख्यमंत्री बताते हुए दावा कर दिया कि वे 15 दिन के भीतर भूमिपूजन करने आने वाले हैं। सिलावट की जुबान फिसलने का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।राष्ट्रीय जजंमेंट ग्रुप इस वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।
सिलावट अपनी फिसली हुई जुबान को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहते हैं। वे पहले देश के प्रधानमंत्री और प्रदेश के मुख्यमंत्री को कलंक बता चुके हैं। मंत्रीजी का यह वीडियो वायरल होने के बाद कांग्रेस को एक बार फिर भाजपा पर हमला करने का मौका मिल गया। कांग्रेस ने इस पर चुटकी लेते हुए कहा है कि कांग्रेस छोड़ भाजपा में गए पूर्व विधायकों के साथ यही डील हुई है।
सज्जन सिंह वर्मा बोले- बेटा टाइम लगेगा 
भाजपा के नेता तुलसी सिलावट का मैंने भाषण सुना। ज्योतिरादित्य सिंधिया को मुख्यमंत्री बनाने की इनकी तमन्ना थी और सिंधियाजी भी भाजपा में इसलिए गए हैं कि मैं मुख्यमंत्री बन जाउंगा। वो भावना इनके भाषण में निकलकर आ गई है। वाह प्यारे तुलसी सिलावट।
ज्योतिरादित्य सिंधिया मुख्यमंत्री और तुम (तुलसी सिलावट) उप मुख्यमंत्री। क्या बीजेपी वाले मंदिर का घंटा बजाएंगे या भजन-कीर्तन करेंगे। बेचारे शिवराज कुछ दिनों के लिए हास्पिटल में क्या भर्ती हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया को ही मुख्यमंत्री बना दिया। बहुत टाइम लगेगा बेटा। तुलसी सिलावट यह बीजेपी है, नाको चने चबवाएगी अभी तुम देखते रहना।
कांग्रेस का दावा- बदलने वाला है मुख्यमंत्री 
इंदौर के सांवेर विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव की तैयारियां चल रही हैं। सिंधिया समर्थक मंत्री तुलसी सिलावट यहीं से पूर्व विधायक हैं और वे अगला उपचुनाव भी संभवतः इसी विधानसभा क्षेत्र से लड़ने वाले हैं। कांग्रेस इस वीडियो को लेकर दावा कर रही है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इस्तीफा देने वाले हैं और तुलसी सिलावट ने सार्वजनिक रूप से यह बता दिया है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया मुख्यमंत्री बनने वाले हैं और वे 15 दिनों में भूमिपूजन के लिए यहां आने वाले हैं।
कांग्रेस के सचिव राकेश यादव की ओर से यह वीडियो जारी कर साथ में प्रेस नोट भी जारी किया गया है। जिसमें बताया गया है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कोरोना पाजिटिव होने की वजह से मुख्यमंत्री पद से उनका इस्तीफा तय है। नए मुख्यमंत्री के रूप में सिंधिया 15 दिन बाद सांवेर में भूमिपूजन करने आ रहे हैं।
यादव ने भाजपा को घेरते हुए कहा है कि सिलावट ऐसे समय में सार्वजनिक मंच से यह घोषणा की, तब इंदौर भाजपा के नेता भी मौजूद थे, लेकिन किसी ने हिम्मत नहीं जुटाई कि कमजोर मुख्यमंत्री शिवराज के पक्ष में कोई आवाज उठाता। यादव ने चुटकी भी ली कि भाजपा के सारे पुराने नेता अब सिर्फ दरी उठाने का काम कर रहे हैं। कांग्रेस ने यह भी दावा किया कि भाजपा में भीतर ही भीतर सभी लामबंद हैं और वे यह प्रयास कर रहे हैं कि किसी तरह शिवराज जी को मुख्यमंत्री पद से हटाकर सिंधिया जी को मुख्यमंत्री बनवा दिया जाए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.