Brahman Mahasabha boycott Chinese items
पूर्व लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर गलवान घाटी में हिंसक झड़प में भारतीय सेना के एक
ऑफिसर और 20 सैनिकों के शहीद होने पर राष्ट्रीय ब्रह्मण महा सभा के प्रदेश अध्यक्ष जीतेन्द्र मिश्रा अपने
कार्यकर्ताओं के साथ शोसल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए इन्कम टैक्स गोलम्बर पर चीन का झंडा जलाकर
विरोध प्रदर्शन किया। कार्यक्रम का नेतृत्व राष्ट्रीय ब्रह्ममण महासभा के प्रदेश अध्यक्ष ज़ितेन्द्र मिश्रा उपाध्य्क्ष,
महिला मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष शुधा ओझा सहित मनीष मिश्रा, सागर उपाध्याय, आशुतोष मिश्रा जीतिन्द्र चौबे
,अरविंद पाठक ,योगेश झा
प्रदेश अध्यक्ष ज़ितेन्द्र मिश्रा युवा नेता सागर उपाध्याय, आशुतोष मिश्रा ने कहा कि, लद्दाख की गलवन घाटी में
चीन के नापाक इरादों से देश की संप्रभुता और अखंडता की रक्षा करते हुए अपने प्राणों को न्योछावर करने
वाले भारत माँ के वीर सपूतो को श्रद्धाजंली अर्पित करता हूं परंतु इसमें किसी को कोई भ्रम नही होना चाहिए
कि, भारत का प्रत्येक नागरिक अपनी अखंडता और संप्रभुता की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। मैं सेना से आग्रह
करूंगा अब ये लड़ाई तब तक नहीं रुकना चाहिए जब तक कि, “चीन POK में CPEC सहित अपने सारे
प्रोजेक्ट बंद नहीं करता और इसे भारत का अभिन्न हिस्सा नहीं मानता, चीन कैलाश मानसरोवर, अक्साई चीन
सहित भारत के सभी भू-भाग से पिछे नहीं हटता, जब तक तिब्बत को आजादी नहीं मिलती।” हमें भारतीय सेना
पर गर्व है
आशुतोष मिश्रा ने झड़प को दुखदाई करार देते हुए इसके लिए चीन को दोषी ठहराया है। शहीद हुए भारतीय
सैनिकों को श्रद्धांजलि देते हुए उन्होंने चीन के सामान को न खरीदने-न बेचने का निर्णय लिया है।
वहीं सागर उपाध्याय तथा मनीष मिश्रा ने संयुक्त रूप से कहा कि,
भारत में एक मजबूत नेतृत्व की सरकार है। भारत अब ऐसे अत्याचार सहन नहीं करेगा। हमारी सेना चीन को
सबक सीखाने के लिए तैयार है।
अब चाहे युद्ध हो हम सभी भारतीय सेना के साथ हैं। हम अपने समाज के स्थानीय लोगों से अपील करेंगे कि वे
चीन निर्मित वस्तुओं का बहिष्कार करें।
आशुतोष मिश्रा पटना बिहार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.