नई दिल्ली। दिल्ली के एम्स में भर्ती पूर्व वित्त मंत्री और भाजपा नेता अरुण जेटली की हालत बेहद नाजुक बनी हुई है।

एम्स के सूत्रों के मुताबिक, अरुण जेटली को वेंटिलेटर से हटाकर लाइफ सपोर्ट पर रखा गया है।

अरुण जेटली को तबीयत बिगड़ने के बाद बीते 9 अगस्त को एम्स में भर्ती कराया गया था।

शुक्रवार देर रात गृह मंत्री अमित शाह अरुण जेटली का हाल जानने एम्स पहुंचे थे।

वहीं, बसपा सुप्रीमो मायावती और सतीश मिश्रा भी शनिवार को अरुण जेटली का हाल जानने पहुंचे हैं।

खबर है कि वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने भी एम्स पहुंचकर अरुण जेटली की तबीयत के बारे में जानकारी ली है।

हालांकि हॉस्पिटल की तरफ से अरुण जेटली को लेकर कोई हेल्थ बुलेटिन अभी जारी नहीं किया गया है।

ईसीएमओ पर रखे गए अरुण जेटली एम्स के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक,

अरुण जेटली की तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें ईसीएमओ (एक्सट्रा कॉरपोरियल मेमब्रेन ऑक्सिजनेशन), जिसे एक्सट्रा कॉरपोरियल लाइफ सपोर्ट भी कहा जाता है, पर रखा गया है

यह सिस्टम उन मरीजों को लंबे समय तक हृदय की गतिविधियों और सांस लेने में सहायता प्रदान करने की एक एक्सट्रा कॉरपोरियल तकनीक है

दिल्ली: तीन तलाक/ शौहर ने Whatsapp पर दिया तलाक

जिन मरीजों का दिल और फेफड़े जीवन को बनाए रखने के लिए काम करने में असमर्थ होने लगते हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले शुक्रवार को ही राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन भी जेटली से मिलने एम्स पहुंचे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.