मेहुल चोकसी
नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के मुख्य आरोपी मेहुल चोकसी ने भारत आने में असमर्थता जताई है। इसके लिए चोकसी ने बीमारी का हवाला दिया है और कहा है कि वह भारत आने के लिए 41 घंटों की लंबी यात्रा नहीं कर सकता।
चोकसी ने ईडी पर जानबूझकर उसके खराब स्वास्थ्य की जानकारी नहीं देने और जांच को भटकाने का भी आरोप लगाया है। बॉम्बे हाईकोर्ट में फाइल किए गए उत्तर में चोकसी ने ये भी कहा है कि वह लगातार बैंकों के संपर्क में है और मामले को सुलझाना चाहता है। चोकसी ने ये भी कहा है कि वह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जांच में शामिल होना चाहता है।
बता दें कि हाल ही में इंटरपोल ने मेहुल चोकसी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया है। मेहुल अभी एंटीगा में रह रहे हैं। उन्‍होंने साल 2017 में वहां की नागरिकता ली थी। बता दें कि 13,400 करोड़ के पंजाब नेशनल बैंक घोटाले में मेहुल चोकसी और

यह भी पढ़ें: मुझे गोलीबारी में बेरहमी से मार डालो: एचडी कुमारस्वामी

नीरव मोदी के खिलाफ ईडी और सीबीआइ ने मामला दर्ज कर रखा है। समन के बावजूद ईडी के समक्ष पेश नहीं होने पर जहां उसको भगोड़ा आर्थिक अपराधी घोषित कर दिया गया वहीं उसकी कई संपत्ति भी जब्त कर ली गई।
सीबीआइ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पंजाब नेशनल बैंक को लेटर ऑफ अंडरटेकिंग और लेटर ऑफ क्रेडिट के मार्फत 13000 करोड़ रुपये को चूना लगाया। सीबीआइ अब यह जानना चाहती है कि आरबीआइ की ओर से हीरे-जवाहरात में 120 दिन के एलओयू की सीमा तय होने के बावजूद
वे लोग पंजाब नेशनल बैंक की ओर जारी एक साल के एलओयू को कैसे स्वीकार कर रहे थे और इस बारे में पंजाब नेशनल बैंक व अपने बैंक के संबंधित अधिकारियों को क्यों नहीं सचेत किया। यदि विदेशी ब्रांच के अधिकारी सचेत करते तो घोटाले को शुरू में ही रोका जा सकता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.