राजीव गांधी की
लुधियाना। वर्ष 1984 के सिख विरोधी दंगों में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के शामूलियत को लेकर पंजाब में राजनीति गरमाई हुई है। मंगलवार को लुधियाना के सलेम टाबरी में यूथ अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने विरोधस्वरूप पूर्व प्रधानमंत्री की प्रतिमा के मुंह पर काला पेंट पोत दिया, जबकि हाथों पर लाल पेंट लगा दिया। इस घटना को उस समय अंजाम दिया गया, जब अकाली दल सहित अन्य कई संगठन पूर्व प्रधानमंत्री से भारत रत्न वापस लिए जाने की मांग कर रहे हैं।
पूर्व प्रधानमंत्री की प्रतिमा पर कालिख पोतने की वीडियो वायरल हुई तो लोगों को इसका पता चला। बताया जा रहा है कि कालिख पोतने वालों में यूथ अकाली कार्यकर्ता शामिल हैं। पेंट पोतने के दौरान वह यह कहते हुए सुनाए दे रहे हैं कि सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है देखना है जोर कितना बाजु-ए-कातिल में हैं। उन्होंने कहा कि उन्होंने प्रतिमा को सही रूप दिया है। मुंह पर कालिख पोती है और हाथ खूनी रंग (लाल) से रंगे हैं। उन्होंने सिख कत्लेआम के लिए पूर्व प्रधानमंत्री को सबसे बड़ा जिम्मेदार ठहराया।
उधर, घटना का पता चलते ही कांग्रेस नेता मौके पर पहुंच गए और उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री की प्रतिमा को साफ किया। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने इस दौरान अकाली दल के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। यूथ कांग्रेस प्रधान राजीव राजा ने दोषियों के खिलाफ तत्काल मामला दर्ज करने की मांग की।
कांग्रेस नेताओं ने मामले में सुखबीर बादल से माफी मांगने की मांग की। कहा कि अगर सुखबीर इस पर माफी नहीं मांगते तो यह समझा जाएगा कि यह सब सुखबीर के कहने से ही हुआ। कांग्रेस सांसद रवनीत बिट्टू ने कहा कि अकाली दल लीडरशिप को चुल्लु भर पानी में मर जाना चाहिए। अकाली दल के छुटभैय्या नेता प्रतिमा के साथ बहादुरी दिखा रहे हैं। अगर उनमें दम है तो मैदान में आएं और पंचायती चुनाव लड़ें। पंजाब में पहले पाकिस्तान की एजेंसी माहौल खराब करती थी अब अकाली दल के नेता कर रहे हैं।
बता दें, शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर सिंह बादल पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को दिया भारत रत्न वापस लेने की मांग कर चुके हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की मांग की है, ताकि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को दिया भारत रत्न वापस लेने  संबंधी प्रस्ताव पारित किया जा सके।
यह भी पढ़ें: जब अटल बिहारी वाजपेयी को महसूस हुआ था कि नरेंद्र मोदी करने वाले हैं उनका तख्‍तापलट
सुखबीर ने कहा कि कैप्टन को स्पष्ट करना चाहिए कि पंजाब में कांग्रेस पार्टी पंजाबियों की भावनाओं का सम्मान करेगी या नहीं, राजीव गांधी को दिया भारत रत्न वापिस लेने की मांग करने वाला प्रस्ताव क्या लाएगी? इसकी बहुत ज्यादा अहमियत है, क्योंकि
यह साबित करेगा कि पंजाब कांग्रेस सभी तक यह संदेश पहुंचाने के लिए कितनी गंभीर है। अकाली दल न सिर्फ इस प्रस्ताव का समर्थन करेगा, बल्कि यह भी अपील करेगा कि सभी लोगों को यह स्पष्ट संदेश भेजने के लिए इस प्रस्ताव को सर्वसम्मति से पास किया जाए कि मानवता के खिलाफ अपराधों के लिए समाज में कोई जगह नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here