AMU के पूर्व वीसी
नसीरुद्दीन शाह ने एक इंटरव्यू में कहा था कि “कई इलाकों में हम देख रहे हैं कि एक पुलिस इंस्पेक्टर की मौत से ज्यादा एक गाय की मौत को अहमियत दी जा रही है। ऐसे माहौल में मुझे अपनी औलादों के बारे में सोचकर फिक्र होती है। देश के माहौल में काफी जहर फैल चुका है।
इस जिन्न को बोतल में डालना मुश्किल दिख रहा है।” नसीरुद्दीन की टिप्पणी पर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि किसी को डरने या डराने की जरूरत नहीं है और देश में सहिष्णुता एवं सौहार्द की मजबूत विरासत नहीं डिगेगी। न किसी को डरने की जरूरत है और किसी को डराने की। सहिष्णुता का संस्कार और सौहार्द की संस्कृति अटूट है। यही एक भारत, श्रेष्ठ भारत तथा सबका साथ, सबका विकास है।
अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने कहा था कि अपने बच्चों के लिए ऐसे देश में डर लगता है जहां एक गाय का जीवन पुलिसकर्मी के जीवन से ज्यादा महत्वपूर्ण है। उनके भाई और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के पूर्व वीसी लेफ्टिनेंट जनरल जमीर उद्दीन शाह ने उनके साथ सहमती जताई है।
उन्होंने कहा कि मैं सेना के बैकग्राउंड से आया हूं, इसलिए मैं कह सकता हूं कि मेरे पास डरने के लिए कुछ भी नहीं है लेकिन मैं चीजों की स्थिति में पूरी तरह से घृणा करता हूं – ध्रुवीकरण की राजनीति से छुटकारा पाना है, पागलपन को रोकना है।
यह सिर्फ बुलंदशहर घटना के बारे में नहीं है। अन्य घटनाएं भी हुई हैं जहां अपराधियों को सजा नहीं दी गई है या गिरफ्तार नहीं किया गया है। मुझे विश्वास करना असंभव लगता है कि पुलिस हिंसा के अपराधियों को गिरफ्तार नहीं कर रही है।
इसके अलावा हरियाणा सरकार के मंत्री अनिल बिज ने कहा कि नसीरुद्दीन शाह जी हम गाय को भी उतना ही महत्व देते हैं जितना कि इंसान को। अगर आप भी गाय को उतना ही महत्व देने लग जाएं तो आपकी चिंताओं का अपने आप समाधान हो जाएगा।
इसके अलावा उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना (यूपीएनएस) के अध्यक्ष अमित जानी ने अभिनेता नसीरुद्दीन शाह के बयान की आलोचना करते हुए उन्हें पाकिस्तान का हवाई टिकट भेजने का दावा किया है।
यह भी पढ़ें: AAP से विधायक अलका लांबा ने दिया इस्तीफा
जानी ने कहा कि नसीरूद्दीन शाह को अगर भारत में डर लगता है तो उन्हें पाकिस्तान चले जाना चाहिए। उन्होंने दावा किया कि यूपीएनएस ने शाह के लिए पाकिस्तान का 14 अगस्त का हवाई टिकट बुक करा दिया है जो उनके घर भेजा जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here