संजलि
आगरा। गांव लालऊ में पेट्रोल डालकर जलाई गई हाईस्कूल की छात्रा संजलि का शव गुरुवार शाम जब दिल्ली से घर पर पहुंचा तो कोहराम मच गया।
परिजन रो-रोक कर विलाप करने लगे, वहीं इस घटना से आक्रोशित लोगों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर लोगों को खदेड़ा और
देर रात जबरन संजलि का दाह संस्कार करा दिया। इससे पहले परिजनों ने हत्यारों की गिरफ्तारी होने तक दाह संस्कार से इंकार कर दिया था।
संजलि के परिजनों ने परिवार के एक सदस्य को नौकरी और एक करोड़ रुपए मुआवजा दिए जाने की मांग रखी थी। यह भी कहा था कि, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आएंगे तभी दाह संस्कार किया जाएगा।
शुक्रवार सुबह उप मुख्यमंत्री डॉक्टर दिनेश शर्मा पीड़ित परिवार के घर पहुंचे और परिजनों को ढांढस बंधाया। उन्होंने पांच लाख रुपए सहायता दिए जाने का ऐलान किया और कहा कि, अन्य योजनाओं का भी लाभ दिया जाएगा।
संजलि, गांव से नौ किमी दूर नौमील गांव स्थित अशरफी देवी छिद्दा सिंह इंटर कॉलेज में कक्षा 10 में पढ़ती थी। मंगलवार दोपहर को छुट्टी के बाद साइकिल से घर लौट रही थी।
तभी बाइक सवार दो युवकों ने पेट्रोल डालकर उसे आग के हवाले कर दिया। संजलि को गंभीर अवस्था में आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। यहां से दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में रेफर कर दिया गया।
जहां गुरुवार तड़के उसकी मौत हो गई। मौत की खबर आने के बाद उसके ताऊ के बेटे योगेश ने भी जहर खाकर खुदकुशी कर ली। इसके बाद लोगों का आक्रोश प्रशासन व पुलिस के प्रति ज्यादा हो गया।
आगरा के गांव लालऊ में कक्षा दस की छात्रा संजलि को जिंदा जलाने की घटना पर राज्य महिला आयोग सख्त है। गुरुवार को आयोग की सदस्य निर्मला दीक्षित पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचीं।
उन्होंने घटना को बेहद दर्दनाक और संवेदनशील बताया। आरोपियों को पकड़कर कड़ी कार्रवाई करने के लिए पुलिस अधिकारियों को तीन दिन का अल्टीमेटम दिया।
मुख्यमंत्री के निर्देश पर डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा शुक्रवार संजली के घर पहुंचे। उन्होंने परिजनों को सांत्वना देने के बाद 5 लाख रुपए और आगे अन्य योजनाओं का लाभ देने की बात कही।
इस दौरान विपक्षियों के ट्वीट और तंज पर उन्होंने कहा कि यहां एक ही परिवार के दो लोगों की मौत हुई है और इस पर राजनीति नहीं होनी चाहिए। परिवार गमजदा है।
आरोपियों को ढूंढ कर लाया जाएगा और कठोरतम सजा दिलाई जाएगी। गांव की लड़कियों में दहशत के सवाल पर उप मुख्यमंत्री ने कहा कि, यहां क्या पूरे देश में पुलिस हर वक्त सबके साथ है और किसी को डरने की जरूरत नहीं है।
यह भी पढ़ें: सपा-बसपा गठबंधन मे ऑफर मिला तो शामिल हो सकते हैं चाचा शिवपाल: अपर्णा यादव
भीम आर्मी के अध्यक्ष चंद्रशेखर रावण भी गुरुवार रात संजलि के घर पहुंचे और प्रशासन अपराधियों को पकड़ने की मांग रखी। उन्होंने कहा कि, न्याय न मिलने पर सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here