PM मोदी ने
प्रयागराज। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को प्रयागराज पहुंचे। उन्होंने कुंभ मेले के लिए बनाए गए कमांड और कंट्रोल रूम का उद्घाटन किया और संगम पर मां गंगा की पूजा की।
वह यहां 4048 करोड़ की 366 परियोजनाओं का लोकार्पण किया। उन्होंने अक्षय वट और लेटे हनुमान का भी दर्शन किया।
इससे पहले मोदी प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार रायबरेली पहुंचे। यहां उन्होंने रेल मंत्री पीयूष गोयल के साथ मॉडर्न रेल कोच फैक्ट्री का निरीक्षण किया। 900वें मॉडर्न रेल कोच को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
साथ ही 1100 करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इस मौके पर उन्होंने कांग्रेस पर तंज कसा। कहा-  कांग्रेस ने हितों के चलते रक्षा सौदों में देरी की। हमारे रक्षा सौदों में कोई क्रिश्चियन मिशेल और क्वात्रोची मामा नहीं है। रायबरेली यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी का संसदीय क्षेत्र है।
मोदी ने कहा- “तप, तपस्या व संस्कृति की धरती को मेरा प्रणाम। जब भी प्रयागराज आने का अवसर मिलता है, तब नई उर्जा का संचार होता है।
यहां आने वाले हर यात्री को इसका अनुभव अनंतकाल से होता रहा है। प्रयागराज के महत्व का वर्णन करना मुश्किल है। इस धरती का सुख रघुकुल श्रेष्ठ भगवान राम ने भी पाया है।”
“मैं जिस भी देश में गया, उन्हें कुंभ में आने न्योता दिया। इसी का परिणाम है कि संगम तट पर 71 देशों का झंडे लहरा रहे हैं। हमें सुनिश्चित करना है कि विदेशों से आने वाले भारत की एक अच्छी तस्वीर लेकर अपने साथ लेकर जाएं।”
“देश को एक खुशखबरी देना चाहता हूं। अब श्रद्धालु अक्षय वट के दर्शन कर सकेंगे। कई पीढ़ियों से अक्षय वट किले में बंद था। लेकिन इस बार यहां आने वाला हर यात्री को अक्षय वट के अलावा सरस्वती कुंभ के दर्शन मिलेंगे।
अक्षय वट हमें जीवट रहने की प्रेरणा देता है। कुंभ को जीवट बनाने के लिए चार हजार करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण किया गया है। जिसमें गंगा की सफाई, सड़क, पानी बिजली जैसी सुविधाएं मिलेंगी। इन परियोजनाओं से कुंभ में यहां प्रवास करने वाले कल्पवासियों को सुविधा मिलेगी।’
कुंभ के दौरान कनेक्टीविटी पर भरपूर ध्यान दिया गया है। रेल, एयर या सड़कों को सुधारने की बात हो, रेल मंत्रालय अनेक रेल चलाने जा रहा है। एक टर्मिनल का उद्घाटन होगा। इसे एक साल के भीतर बनाया गया है।
इससे यात्रियों को सुविधा मिलेगी, साथ ही प्रयागराज की कई देशों की कनेक्टीविटी बढ़ जाएगी। इसका प्रभाव सिर्फ कुंभ तक नहीं रहेगा। भविष्य में दिखाई देगा। पहले की तरह कच्चा पक्का काम नहीं किया गया है। सभी स्थायी निर्माण हो रहे हैं।”
प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘कोच फैक्ट्री की क्षमता बढ़ने से कामगारों, इंजीनियरों और डिप्लोमा होल्डरों को रोजगार मिलेगा। पहले फैक्ट्री के लिए स्थानीय कारोबारियों से एक करोड़ रुपए से भी कम का सामान खरीदा जाता था।
भाजपा सरकार आने के बाद इस साल सवा सौ करोड़ रुपए का माल यहीं के कारोबारियों से खरीदा गया है। रेलवे यहां रेल पार्क बनाने जा रहा है।”
‘‘देश के साधन और संसाधनों के साथ अन्याय हुआ है। रायबरेली की रेल कोच फैक्ट्री इसकी गवाह है। 2010 में यह फैक्ट्री बनकर तैयार हुई, लेकिन इसमें कपूरथला से डिब्बे लेकर पेंच कसने का काम हुआ।
जबकि इसमें नए कोच बनाने की क्षमता थी। हालत ये थी कि यहां की सिर्फ तीन फीसदी मशीनें ही काम कर रही थीं। हमने अपनी सरकार आने के तीन महीने में मशीनों को चालू कराया। हमारा लक्ष्य फैक्ट्री को 5000 कोच प्रति वर्ष तक लेकर जाने का है। जल्द ही यहां देशभर की मेट्रो और सेमी हाईस्पीड ट्रेनों के डिब्बे बनेंगे।”
मोदी ने कहा, ‘‘पिछली सरकार ने घोषणा की थी कि यहां 5000 लोगों को रोजगार मिलेगा। उन्होंने मालाएं पहनी थी, लेकिन स्वीकृति सिर्फ आधे पदों को दी, एक को भी नियुक्ति नहीं दी। जो कर्मचारी काम कर रहे थे, उन्हें कपूरथला से लाया गया था।
आज यहां कर्मचारियों की संख्या 1500 से ज्यादा हो चुकी है। रायबरेली भविष्य में रेलवे कोच हब बनने वाला है। रेलवे के आलावा हाईवे, एक्सप्रेसवे और वॉटरवे तैयार किए जा रहे हैं।”
मोदी ने राफेल डील का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘देश की शीर्ष अदालत ने राफेल डील को हरी झंडी दी है। सच को श्रृंगार की जरूरत नहीं होती है। झूठ कितना भी बोला जाए, उसमें जान नहीं होती है।
कांग्रेस सरकारों का इतिहास और रवैया सेनाओं के प्रति कैसा रहा, देश उसे कभी नहीं भूलेगा। करगिल युद्ध के बाद वायुसेना के लिए आधुनिक विमानों की जरूरत बताई गई थी,
लेकिन अटलजी की सरकार के बाद 10 साल कांग्रेस की सरकार रही। इन लोगों की बातों पर पाकिस्तान में तालियां बजाई जा रही हैं। रामचरित मानस की एक चौपाई है- झूठइ लेना झूठइ देना, झूठइ भोजन झूठ चबेना। बोलहिं मधुर बचन जिमि मोरा, खाइ महा अहि हृदय कठोरा। इसका अर्थ है कि कुछ लोग झूठ का ही सेवन करते हैं और झूठ ही बोलते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here