जहरीले प्रसाद
बेंगलुरु। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण सेवा निदेशालय के संयुक्त निदेशक सुरेश शास्त्री ने कहा, ‘एक बच्चे की मौत रामापुरा के सरकारी अस्पताल में हुई जबकि
कामागेरी और कोलेगल में दो-दो की मौत हुई। केपी अस्पताल में तीन और केआरएच अस्पताल में एक की मौत हुई है।’
चामराजनगर जिले की सुलिवड़ी गांव में शुक्रवार को एक मंदिर में प्रसाद खाने के बाद एक लड़की और एक महिला समेत 11 लोगों की मौत हो गई और करीब 72 लोग बीमार हो गए। मैसुरु के अस्पताल में भर्ती लोगों में आठ की हालत नाजुक बताई जा रही है।
जिले के स्वास्थ्य अधिकारी ने प्रसाद में जहर होने की आशंका जताई है और कहा कि प्रसाद सैंपल को जांच के लिए भेज दिया गया है। पुलिस ने जानकारी दी कि मरम्मा मंदिर में आधारशिला समारोह शुक्रवार को शुरू हुआ।
कार्यक्रम के बाद प्रसाद वितरण किया गया। जिसे खाने के बाद पेट में अचानक तेज दर्द शुरू हो गया और लोग उलटी करने लगे। इससे वहां अफरातफरी मच गई और लोगों को नजदीकी अस्पताल ले जाया गया।
इस घटना पर मुख्यमंत्री एचडी कुमारास्वामी ने दुख व्यक्त किया है और अधिकारियों को पीडि़तों की इलाज के लिए उचित व्यवस्था करने को कहा है।
यह भी पढ़ें: भय्यू महाराज के दर्जन भर महिलाओं से थे संबंध
विशेष विमान से चामराजनगर रवाना होने से पहले मुख्यमंत्री ने मृतक के आश्रित को पांच लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की।
पीडि़तों ने बताया कि प्रसाद से किरोसिन की गंध आ रही थी लेकिन उन्होनें इसे नजरअंदाज कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.