रमन सिंह
रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह शाम करीब साढ़े पांच बजे एकात्म परिसर पहुंचे। वहां पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि वो राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप कर आ गए हैंं।
डॉ. रमन ने इस हार की जिम्मेदारी खुद ली। इधर राजीव भवन में प्रेस कांफ्रेंस कर प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया और पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल पत्रकारों से रूबरू हुए।
बघेल ने कहा कि हमारे कार्यकर्ता चट्‌टान की तरह खड़े रहे। उन्होंने अमित शाह और रमन सिंह की टीम को धूल चटाने का काम किया है।
भाजपा शासन में आपात स्थिति से बदतर स्थिति रही है। उसके बाद भी मीडिया ने काम किया। अभी सेमी फाइनल जीते हैं। फाइनल भी जीतेंगे।
एक चीज और एक्सपोज हो गई। बसपा, जोगी ने मिलकर भजपा के लिए खेल खेला था। ये खुद को गेम चेंजर मान रहे थे। जनता तो समझदार हैं। इनकी नापाक हरकतों पर पानी फेर दिया। जोगी के लिए कांग्रेस के रास्ते हमेशा बंद हैं और रहेंगे।
प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने कहा कि ये ऐतिहासिक पल है। जनता जब तय करती है। न धन न सत्ता बल, न दारू न रिश्वत न सिफारिश न लाभ-लालच कुछ नहीं टिकता है।
वो अपना फैसला देती है। छग के नतीजे सबके लिए पथ प्रदर्शक हैं। आज देर तक नतीजे आ जाएंगे। लोग पूछते हैं कौन सीएम होगा? चुने हुए प्रतिनिधि इकट्‌ठे होंगे। वो हमारे हाई कमान को राय बताएंगे। वो प्रक्रिया कल से शुरू हो जाएगी।
 
पुनिया ने कहा कि ईवीएम पर अनेक सवाल उठाए गए हैं वो आज भी वैलिड हैं। हम स्पष्ट कर चुके हैं कि ईवीएम की बजाय बैलेट पेपर से चुनाव हो और हम उसपर कायम रहेंगे।
बघेल ने कहा कि हम बदले की राजनीति नहीं करेंगे, लेकिन जो दोषी हैं उनपर जरूरी कार्रवाई करेंगे। पुनिया ने झीरम घाटी मामले की सीबीआई जांच कराएंगे।
भाजपा राज्य में सीडी कांड की सीबीआई जांच कराई गई, लेकिन झीरम जैसे मामले की नहीं जिसमें कांग्रेस के बड़े नेतृत्व शहीद हो गए थे।
यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़: सत्ता में कांग्रेस की वापसी, मुख्यमंत्री पद की दौड़ में यह तीन नाम
डॉ. रमन सिंह ने कहा कि हम अपनी विपक्ष की सशक्त भूमिका में उतने ही प्रखरता और मजबूती के साथ छग की जनता का सेवा करेंगे। चुनाव हारने के पीछे क्या वजह रही। कहां चूक हुई इसपर बैठकर चर्चा करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here