मुरादाबाद पुलिस
मुरादाबाद। जनपद में पिछले दिनों एक के बाद एक अपराधिक मामले प्रकाश में आने के बाद पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े हो रहे थे। घर में घुस कर हत्या, डकैती और लूट की वारदात लगातार बदमाशों द्वारा अंजाम दिया जा रहा था।
वहीँ पुलिस अपराधियों पर नकेल कसने में असहाय दिखाई दे रही थी। तभी अचानक शहर में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ का सिलसिला ऐसा शुरू हुआ कि
लगातार तीन दिनों तक पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान 6 बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जिसमे 4 बदमाशों को पैर में गोली लगी है। मुरादाबाद में एक के बाद एक बड़ी अपराधिक वारदात के बाद अचानक शुरू हुई मुठभेड़ यहाँ लोगों में चर्चा का विषय बनी हुई है कि
आखिर पुलिस अचानक इतनी एक्टिव कैसे हो गई। लेकिन यह भी सच है की पुलिस की लगातार चल रही मुठभेड़ की कार्यवाही से अपराधियों में हडकंप की स्थिति बनना भी स्वाभाविक है।
लगातार तीन दिनों से प्रतिदिन रात में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ से स्वाभाविक है अपराधियों में खौफ पैदा हुआ होगा। लेकिन अचानक शुरू हुई मुठभेड़ की प्रक्रिया भी कई सवाल खड़े कर रही है।
अबतक तीन दिनों की तीन मुठभेड़ देर रात में हुई जहाँ घने अँधेरे में दोनों तरह से हुई फायरिंग के दौरान एक भी पुलिसकर्मी घायल नहीं हुआ। यहाँ गौर करने वाली बात है कि अब तक की मुठभेड़ में चार बदमाशों को पैर में गोली लगने के बाद गिरफ्तार किया गया है।
अब यहाँ साफ़ हो जाता है की इतने अँधेरे में कई राउंड फायरिंग होने के बाद सभी बदमाशों के पैर में ही गोली लगना पुलिस की बेहतर निशानेबाजी दर्शाता है और यह कहा जा सकता है कि
मुरादाबाद पुलिस को अँधेरे में भी बदमाशों के पैर में गोली मारने की महारत हासिल है या फिर लगातार हो रही मुठभेड़ के पीछे कुछ और मकसद है ?

पहली मुठभेड़ रविवार देर रात को मझोला थाना छेत्र हुई मुठभेड़ में एक गोपाल उर्फ़ भूरा बदमाश को मुठभेड़ के दौरान पैर में गोली लगने के बाद गिरफ्तार किया गया जबकि
उसके अन्य दो साथी दिनेश और विक्की अँधेरे का फायदा उठा कर भाग गए थे जिन्हें सर्च ओपरेशन चला कर बाद में गिरफ्तार कर लिया गया था।

दूसरी मुठभेड़ सोमवार देर रात पाकबड़ा थाना छेत्र में हुई जहाँ पुलिस को गश्त के दौरान दो संदिग्ध लोग बाइक से जाते दिखे।
जिन्हें रोकने का प्रयास किया गया लेकिन वह पुलिस पर फायरिंग करते भागने लगे। इस दौरान जवाबी कार्यवाही में एक बदमाश राकेश सैनी को गोली लग गई जिसे मौके से पकड़ लिया गया।
वहीं दूसरा बदमाश सतपाल जाटव अंधेरे का फायदा उठा कर फरार हो गया । यहाँ भी घने अँधेरे में पुलिस की गोली बदमाश राकेश सैनी के पैर में ही गोली।

तीसरी मुठभेड़ मंगलवार रात कटघर थाना छेत्र में हुई जहाँ पुलिस टीम द्वारा गश्त के दौरान रात करीब पौने दस बजे रामगंगा पुल से कटघर स्टेशन जाने वाले रास्ते पर कुछ व्यक्ति संदिग्ध अवस्था में खडे दिखायी दिये,
जिन्हें पुलिस पार्टी द्वारा टोंका गया तो वहां खड़े लोग भागने लगे। पुलिस ने उन्हें पूछताछ के लिए रोकने का प्रयास किया जिसके बाद बदमाशों ने पुलिस पर फायरिंग शुरु कर दी।
यह भी पढ़ें: योगी सरकार से ज्यादा,गौ माता का अपमान कभी नहीं हुआ: शिवसेना
वहीँ पुलिस की आत्मरक्षा में जवाबी फायरिंग के दौरान बदमाश सलमान और आफान को पैर में गोली लग गई जिन्हें बाद घायल अवस्था में गिरफ्तार कर लिया गया। यहाँ भी बदमाशों को पैर में ही गोली लगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here