मानवाधिकार आयोग
लखनऊ। अमेठी में एक वकील को अगवा करके मारने-पीटने के एक मामले में मुसाफिरखाना थाने में एफआईआर दर्ज की गई है। हाईकोर्ट के आदेश पर यह मामला दर्ज हुआ है।
डीजीपी कार्यालय में तैनात एसपी कुंतल किशोर समेत छह पुलिसकर्मियों एवं दो अन्य लोगों खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।
कोर्ट के आदेश पर अधिवक्ता ने केस दर्ज कराने के लिए मौजूदा एसपी अनुराग आर्य को तहरीर दी है। जिसके आधार पर पूर्व एसपी समेत 8 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।
मुसाफिरखाना क्षेत्र के ऊंचगांव के रहने वाले अधिवक्ता राघवेंद्र द्विवेदी की पत्नी सुमन (ग्राम प्रधान) ने पिछले दिनों हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की थी।
याचिका में कहा गया था कि मुसाफिरखाना कोतवाली और अलीगंज चौकी पुलिस ने फरवरी माह में उनके पति का अपहरण कर लिया।
एनकाउंटर की साजिश विफल होने पर पुलिस कर्मियों ने उनके पति पर जानलेवा हमला करते हुए जमकर पिटाई की थी।
जांच के बाद कोर्ट ने पिछले दिनों अमेठी के तत्कालीन एसपी कुंतल किशोर गहलोत, मुसाफिरखाना कोतवाल रहे पारसनाथ सिंह व अलीगंज चौकी इंचार्ज रहे दिनेश सिंह और
यह भी पढ़ें: एसटीएफ के हत्थे चढ़ा एक लाख का इनामी बदमाश
मुसाफिरखाना के सिपाही सूर्यप्रकाश, पुष्पराज, देवेश कुमार व ऋषिराज के साथ ही उस जीप मालिक के खिलाफ भी प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here