क‍ितनी मस्‍ज‍िदें
ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के महासचिव ने मौलाना वली रहमानी ने कहा है कि अयोध्या में मुस्लिमों के खिलाफ माहौल बनाया जा रहा है। उन्होंने पूछा कि, आखिर हम कितनी मस्जिदें कुर्बान करते रहेंगे? दो दिन पहले ही अयोध्या में धर्म सभा कर विश्वहिंदू परिषद और शिवसेना ने सरकार को ताकत का अहसाह कराया था।
मौलामा रहमानी ने अयोध्या 25 नवंबर को हुई धर्मसभा पर कहा, मुस्लिमों के खिलाफ जानबूझकर माहौल बनाया जा रहा है। धर्मसभा के नाम पर हुआ शक्ति प्रदर्शन सुप्रीम कोर्ट के लिए खुली चुनौती है। अयोध्या में बीते दिनों जो कुछ भी हुआ, वह संदेहास्पद है। उन्होंने कहा, भारतीय जनता पार्टी पर शिवसेना हावी होने की कोशिश में है।
उन्होंने कहा, संभव है कि उद्धव ठाकरें विवादित स्थल पर जाकर एक ईंट रख दें और बाद में दावा करें मंदिर बनाने का काम शुरु कर दिया गया है। अगर ऐसा होता है तो माहौल बिगड़ने में देरी नहीं लगेगी। रहमानी ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव का समर्थन करते हुए कहा कि,
अखिलेश ने अयोध्या में सेना उतारने की मांग ठीक की है। उन्होंने उत्तर प्रदेश पुलिस को पक्षपाती बताते हुए कहा, पुलिस मुसलमानों के प्रति भेदभाव से कार्यवाई करती है। उन्होंने आगे कहा कि अगर कोई अप्रिय घटना होती है तो इसकी जिम्मेदारी पूर्णतया सरकार की होगी।
यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट जज मुजफ्फरपुर शेल्‍टर होम केस में बोले- जितनी बार फाइल पढ़ता हूं, गुस्‍सा आता है
सहमति से मंदिर बनाए जाने पर रहमानी ने कहा, हर बाप हमसे पीछे हट कर अयोध्या से बाहर मस्जिद बनाने का सुझाव दिया जाता है। यह सुझाव नहीं आदेश की तरह है। उन्होंने कहा, मसला सिर्फ एक मस्जिद का नहीं है। आखिर मुसलमान कितनी मस्जिदें कुर्बान करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here