मुझे राम
शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र से अयोध्या पहुंचे। मंदिर निर्माण में देरी के लिए वह भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) और केंद्र सरकार पर बुरी तरह बरसे। पत्रकारों से उन्होंने वहां कहा, “मुझे राम मंदिर निर्माण का श्रेय नहीं बल्कि उसकी तारीख चाहिए।” 
बता दें कि राम की नगरी में रविवार (25 नवंबर) को  विश्व हिंदू परिषद (विहिप) विशाल धर्म सभा का आयोजन करेगी, जिसकी तैयारियां कई दिन पहले से हो रही थीं। विहिप के अलावा शिवसेना भी इस मसले पर सख्त तेवर में नजर आ रही है। शिवसेना प्रमुख इसी को लेकर दो दिनों के दौरे के लिए अयोध्या आए।
उन्होंने नाम लिए बिना ही मोदी सरकार पर निशाना साधा और कहा, “हमें आज मंदिर बनने की तरीख चाहिए। पहले मंदिर कब बनाएंगे, वह बताएं। बाकी बातें तो बाद में होती रहेंगी। आज मुझे तारीख चाहिए। अब हिंदू चुप नहीं रहेंगे।
जैसे नोटबंदी का निर्णय लिया था, वैसे ही यह फैसला भी लिया जाना चाहिए। मंदिर बनाने के लिए हिम्मत चाहिए। सीना कितना भी चौड़ा क्यों न हो, सीने में ताकतवर दिल होना जरूरी है। कई महीने, कई साल बीत गए पर राम मंदिर का मुद्दा वैसे का वैसा ही है।”
शिवसेना प्रमुख के साथ इस दौरे पर पत्नी रश्मि और बेटा आदित्य भी हैं। वे इससे पहले लक्ष्मण किला गए, जहां उन तीनों ने पूजा-अर्चना की। उन्होंने इसके बाद शाम को सरयू की आरती भी उतारी, जबकि रविवार को वह शिवसेना कार्यक्रम में शामिल होंगे। वह इसके अलावा महाराष्ट्र के पुणे स्थित शिवनेरी किले से एक पौधा भी लाएं हैं, जिसे वह राम जन्मभूमि के पुजारी को भेंट स्वरूप देंगे।

उद्धव के अलावा राम लला के दर्शन के लिए महाराष्ट्र से हजारों शिवसेना के कार्यकर्ता भी पहुंचे हैं। विहिप व शिवसेना के कार्यकर्ताओं की भारी मौजूदगी और होने वाले आयोजनों को लेकर सुरक्षा के खास बंदोबस्त किए गए हैं। 
यह भी पढ़ें: मिड डे मील में 2400 करोड़ रुपए के घोटाले का खुलासा
राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवादित स्थल के भीतरी और बाहरी घेरे के साथ राम लला विराजमान (जहां टेंट के भीतर श्रीराम की मूर्ति रखी है) के इर्द-गिर्द सीआरपीएफ, यूपी पीएसी और भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here