28 करोड़
नई दिल्ली,। टेलीकॉम कंपनियां अपने ऐसे ग्राहकों के मोबाइल कनेक्शन को बंद करने की योजना बना रहे हैं, जो हर महीने नेटवर्क पर 35 रुपये से कम खर्च करते हैं।
अगर ऐसा हुआ तो इन कंपनियों के करीब 20 करोड़ 2जी उपभोक्ताओं का मोबाइल कनेक्शन बंद किया जा सकता है। हालांकि उपभोक्ताओं को इसके लिए ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं है।
इतने उपभोक्ताओं को बंद हो सकता है मोबाइल कनेक्शन
  • एयरटेल के करीब 10 करोड़ उपभोक्ता इस दायरे में हैं।
  • वोडाफोन, आइडिया के करीब 15 करोड़ उपभोक्ताओं का कनेक्शन बंद हो सकता है।
यूजर्स न लें टेंशन
भले ही वोडाफोन, आइडिया और एयरटेल कम खर्चा करने वाले उपभोक्ताओं का मोबाइल कनेक्शन बंद करने पर विचार कर रहे हैं। इसके बावजूद उन्हें परेशान होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि भारती एयरटेल ने 35 रुपये से शुरू होने वाले सात प्लान बाजार में उतारे हैं। जबकि, वोडाफोन और आइडिया ने भी इस तरह के पांच प्लान जारी किए हैं। जिसमें सबसे कम का रिचार्ज 35 रुपए का है।
एयरटेल का कहना है
भारती एयरटेल के सीइओ और मैनेजिंग डायरेक्टर (भारत और दक्षिणी एशिया) गोपाल वित्तल ने कहा, ‘कंपनी के 33 करोड़ वायरलेस ग्राहक हैं, लेकिन ऐसे 10 करोड़ उपभोक्ता हैं, जिनका Average Realisation Per USer (ARPU) काफी कम हैं। ये यूजर्स ज्यादातर इनकमिंग कॉल्स पर निर्भर रहते हैं और उनका ARPU औसत ग्राहको से काफी कम है।’ वहीं, वोडाफोन- आइडिया के सीइओ बालेश शर्मा ने कहा कि कई ग्राहकों के पास केवल फ्री इनकमिंग के लिए कनेक्‍शन है। उनकी ऑउटगोइंग न के बराबर है, इसलिए वे रिचार्ज नहीं कराते। जिस कारण ARPU काफी कम है।
नुकसान की आशंका
हालांकि अपने इस कदम पर वोडाफोन पर नुकसान होने की आशंका है। वोडाफोन का कहना है कि सिर्फ इनकमिंग के लिए सिम रखने वाले इन ग्राहकों की सर्विस बंद करनी पड़ेगी। कनेक्शन बंद करने की स्थिति में ग्राहक घट सकते हैं। वहीं, एयरटेल के मुताबिक इस कदम से तीसरी तिमाही में कंपनी के ARPU में सुधार होने की उम्‍मीद है।
ऐसा करने की वजह क्या है?
नुकसान की आशंका के बावजूद टेलीकॉम कंपनियों ने कम रिचार्ज कराने वाले 2जी यूजर को टार्गेट इसलिए किया है, क्‍योंकि इन ग्राहकों से उनकी आमदनी कम हो रही है। साथ ही, कंपनी अपने 2जी नेटवर्क को कम करना चाहती है, ताकि 4जी ग्राहकों की संख्‍या बढ़ सके।
डिस्ट्रीब्यूटर्स की संख्या घटाने पर काम कर रहा वोडाफोन-आइडिया
बात एयरटेल की करें तो यदि न्यूनतम मासिक रिचार्ज वही रहता है, तो इन ग्राहकों से भारती एयरटेल का मासिक राजस्व 100 करोड़ रुपये होगा। यह उम्मीद की जा रही है कि यदि नेटवर्क पर ग्राहकों की संख्या आधी भी रह जाए, तो नए न्यूनतम 35 रुपये प्रति माह की योजना में उसे 175 करोड़ रुपये का राजस्व हासिल होगा।

इस बीच वोडाफोन आइडिया इस वर्ष के अंत तक अपने डिस्ट्रीब्यूटर्स की संख्या 16,000 और ब्रांडेड स्टोर्स की संख्या को 2,000 तक कम करने की प्रक्रिया पर काम कर रहा है। कंपनी दिसंबर तक अपने वितरकों की गिनती 43,000 से कमकर 27,000 करने की योजना बना रही है। दस्तावेज में कहा गया है कि वोडाफोन आइडिया के करीब 6,000 ब्रांडेड रिटेल स्टोर हैं, जो मार्च 201 9 तक 4,000 तक कटौती करने की योजना बना रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.