आगरा
आगरा,। टोल के बैरियर तोड़ते हुए बस ने टोलकर्मियों को रौंदा फिर पुलिस की जिप्सी को घसीटते ले गई। दर्दनाक हादसे में फूल बेचने वाले किशोर समेत दो की जान चली गई। जबकि पुलिसकर्मी समेत छह घायल हो गए।

 

लखनऊ एक्सप्रेस वे पर आगरा की ओर आ रही टूरिस्ट बस फतेहाबाद टोल प्लाजा पर पहुंचते ही बेकाबू हो गई।
घटना शनिवार को सुबह साढ़े आठ बजे की है। मुजफ्फर पुर बिहार से सवारियां लेकर दिल्ली जा रही टूरिस्ट बस के लखनऊ एक्सप्रेस के फतेहाबाद टोल प्लाजा पहुंचते ही ब्रेक फेल हो गए।
एक्सप्रेसवे पर टोल के काउंटर के पास एक गड्ढे में बस का पहिया चला गया। इससे टायर फट गया और बस आगे की ओर बेरियर तोड़ती हुई निकली।
टोल पर तैनात गार्ड और टोलकर्मियों ने बस रोकने की कोशिश की। बस की चपेट में आकर वे घायल हो गए।
बेरियर तोड़ने के बाद बेकाबू बस ने टोल से बीस मीटर दूर खड़ी पुलिस की जिप्सी को चपेट में ले लिया। टक्कर के बाद जिप्सी करीब 25 मीटर तक घिसटती गई।
इसके बाद आगे खड़े डंपर से टकराकर बस रुक गई। जिप्सी में बैठे सिपाही एहसान अली इसमें फंस गए।
हादसे के बाद टोल पर अफरा-तफरी और चीख पुकार मच गई। बस के ड्राइवर और कंडक्टर बस छोड़कर भाग गए। टोलकर्मियों और गार्डों ने जिप्सी की खिड़की तोड़कर सिपाही एहसान अली को निकाला।
इसके बाद घायलों को अस्पताल में पहुंचाया गया। यहां टोलकर्मी सादाबाद के बास अमरू निवासी 23 वर्षीय अमरकांत पचौरी पुत्र संजय पचौरी और
टोल पर फूल बेचने वाले 12 वर्षीय सोनू पुत्र राम निवास निवासी उझावली फतेहाबाद की मौत हो गई। जबकि सिपाही एहसान अली, टोल के गार्ड फतेहाबाद के बाबर पुर निवासी सत्यवीर,
खंडेर निवासी कुशलपाल और बस में सवार मुजफ्फरपुर बिहार निवासी दुर्गा प्रसाद, खुशबू और मंजरी का इलाज चल रहा है।
टोल प्लाजा पर खड़ी पुलिस की जिप्सी ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा को एस्कॉर्ट करने पहुंची थी। ऊर्जा मंत्री को आने में समय लग रहा था।
इसलिए दो पुलिसकर्मी इसमें से उतरकर चाय पीने चले गए थे। जबकि एक सिपाही इसी में बैठा रह गया। इसीलिए बस की चपेट में आई जिप्सी में फंस गया।
बिहार से दिल्ली जा रही बस में कुल 55 सवारियां थीं। ये सभी मुजफ्फरपुर से दिल्ली जाने को बैठी थी। सभी दिल्ली में नौकरी करते हैं।
यह भी पढ़ें: कमल नाथ के गढ़ में शाह की चुनावी सभा में, नहीं जुटी भीड़ तो फटाफट भाषण खत्म कर लौटे
छट पूजा के लिए अपने गांव गए थे। अब वे लौटकर काम के लिए जा रहे थे। हादसे के बाद सभी घबरा गए। काफी देर तक सहमे हुए टोल प्लाजा पर ही बैठे रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.