महिला के
अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में महिला की सर्जरी की गई। फिलहाल महिला ठीक है और डॉक्टर उसकी हालत पर नजर बनाए हुए हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया की एक खबर के अनुसार, संगीता, जिसकी उम्र 40 वर्ष के करीब है बीती 31 अक्टूबर को सरकारी अस्पताल से सिविल अस्पताल में भर्ती करायी गई थी।
महिला का दिमागी संतुलन ठीक नहीं है और पेट में तेज दर्द की शिकायत के बाद सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
अहमदाबाद में एक चौंकाने वाले मामले के तहत सर्जरी कर एक महिला के पेट से कीलें, नट-बोल्ट, सेफ्टी पिन, हेयर पिन, ब्रेसलेट, चेन, मंगलसूत्र, कॉपर रिंग और चूड़ियां निकाली गई हैं। महिला के पेट से निकाली गई इन नुकीली चीजों का वजन करीब डेढ़ किलो है।
बता दें कि पीड़ित महिला संगीता महाराष्ट्र के शिरडी की निवासी है और दिमागी संतुलन ठीक ना होने के चलते अहमदाबाद के शाहेरकोटदा इलाके में सड़कों पर घूमती मिली थी। कोर्ट के आदेश पर पीड़िता को दिमागी इलाज के लिए सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया।
लेकिन पेट में दर्द के चलते पीड़िता को सिविल अस्पताल ले जाना पड़ा। जांच के दौरान डॉक्टरों ने पाया कि महिला का पेट पत्थर की तरह सख्त था। इसके बाद महिला के पेट का एक्सरे किया गया।
एक्सरे में डॉक्टरों को महिला के पेट में सेफ्टी पिन आदि नुकीली चीजें दिखाई दीं। जांच के दौरान पता चला कि नुकीली चीजें पेट में होने के कारण महिला का पेट बुरी तरह से जख्मी हो गया है। ऐसे हालात में डॉक्टरों की टीम ने तुरंत सर्जरी करने का फैसला किया।
सर्जरी करने वाले डॉक्टरों में डॉक्टर नितिन परमार, डॉ.गजेंद्र, डॉ. लोमेश और डॉ. शशांक शामिल थे। डॉक्टरों की टीम ने करीब ढाई घंटे की मशक्कत के बाद महिला के पेट से कीलें, चूड़ियां, ब्रेसलेट, हेयर पिन आदि चीजें निकालीं। सर्जरी करने वाले डॉक्टर नितिन परमार का कहना है कि महिला Acuphagia नामक बीमारी से पीड़ित हो सकती है।
इस बीमारी में मरीज को नुकीली और ना पचने वाली चीजें खाने का मन करता है। आमतौर पर मानसिक रुप से बीमार लोगों में यह बीमारी पायी जाती है और हमारे पास सालभर में कोई एक ऐसा मरीज आता है। डॉक्टरों का कहना है कि
यह भी पढ़ें: 2019 के लिए मोदी एक करोड़ नौकरियां देने का कर रहे इंतजाम
महिला के पेट से निकली नुकीली चीजों को देखकर कहा जा सकता है कि पीड़िता पिछले कई महीनों से इन चीजों का सेवन कर रही थी। फिलहाल महिला के परिजनों की तलाश की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here