लालू से
पटना,। कोर्ट में की अर्जी दायर करने के बाद मची हलचल के बीच तेज प्रताप यादव गया से शनिवार की अलसुबह ही रांची के लिए रवाना हो गए और करीब अपराह्न तीन बजे रांची पहुंचे।
पहुंचने के बाद गाड़ी से उतरते ही तेज प्रताप सीधे हॉस्पिटल के अंदर घुस गए। इस दौरान कई राजद कार्यकर्ता भी रिम्स पहुंचे हुए थे। 
लालू से तेजप्रताप ने करीब दो घंटे मुलाकात की। इस दौरान तेजप्रताप पिता के सामने लगातार रोते रहे। पिता से मुलाकात और लंबी बातचीत के बाद आंखों में आंसू लिए रिम्स से तेजप्रताप यादव बाहर निकले।
बाहर निकलकर कहा-मैं घुट-घुटकर अपनी जिंदगी नहीं बिताना चाहता हूं। तेजप्रताप बोले पापा ने कहा है कि घर आकर तुमसे इस बारे में बात करेंगे।
इसके बाद तेजप्रताप ने कहा कि मैं पापा के घर आने का इंतजार करूंगा। अब मैं कोर्ट में अपनी पूरी बात रखूंगा, हमारा फैसला अडिग है और अडिग ही रहेगा। 
शुक्रवार की रात ही तेज प्रताप पिता से मिलने के लिए रवाना हो गए थे। लेकिन, तलाक की अर्जी के बाद मचे हंगामे के बाद परिजनों को बुलाने के कारण पटना से रांची जाने के क्रम में बीच रास्ते से ही गया लौट आए थे।
गया के बोधगया में होटल में रुके और शनिवार की सुबह यहां से रवाना हुए। वे रिम्स अस्पताल में तीन बजे के करीब पिता लालू प्रसाद यादव से बंद कमरे में मुलाकात किया।
शुक्रवार को तलाक की खबर आने के बाद लालू और चंद्रिका राय दोनों परिवार और राजद के सभी समर्थक सकते में हैं। वहीं, आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव भी बेटे तेज प्रताप यादव के इस फैसले से खासे नाराज हैं।
कहा जा रहा है कि उसके बाद उन्होंने तेज प्रताप को उनसे मिलने का आदेश दिया। बताया जा रहा है कि रातभर लालू ठीक से सो नहीं सके और उनकी तबीयत भी ठीक नहीं है।
इससे पहले तेजप्रताप ने कहा कि बहुत दिन से झेल रहा था और अब मैं उसे झेल नहीं सकता। मेरी शादी राजनीति के लिए कराई गई थी। पीएम भी बोले तो नहीं मानूंगा।
तेजप्रताप ने कहा कि मेरा और ऐश्‍वर्या का झगड़ा हो रहा था। पापा के सामने भी झगड़ा हुआ और मम्मी के सामने भी कई बार हमारे बीच नोकझोंक हुई है। सभी लोग देख रहे हैं लेकिन नजरअंदाज कर रहे हैं। अब तीर निकल चुका है तो पीछे नहीं हटूंगा।  
मेरे मामा के लड़के ओम प्रकाश और नागमणी ने मुझे मोहरा बनाया है और अब हमारा तमाशा बना रहे हैं। मैं फैसले पर अडिग हूं बदलने वाला नहीं हूं।
ओम प्रकाश ने माता जी से पता नहीं क्या कहा, मुझे पता नहीं है. हमको फंसाया गया है। ऐश्‍वर्या ने भी कहा था कि मुझे तलाक दे दो।
मां मेरी बात सुनने को तैयार नहीं थी , हम कभी शादी नहीं करना चाहते थे। हमने मां बाप के सामने कहा कि हमारी आपस में बन नहीं रही है।
यह भी पढ़ें: राम मंदिर पर एक सुनवाई काफी थी: लालजी टंडन
तेजप्रताप यादव ने कहा कि लाख दुनिया मानएगी तब भी हम नहीं मानेंगे।चाहे पीएम ही पैरवी करें तब भी हमारा फैसला नहीं बदलेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here