प्रधानमन्त्री ने
राहुल गांधी ने शुक्रवार को फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जुबानी तीर छोड़ा। नई दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उन्होंने कहा कि दसॉल्ट कंपनी, पीएम मोदी को बचा रही है।
असल में उन्होंने अनिल अंबानी को लाभ पहुंचाया है। अगर जांच हुई, तो पीएम किसी भी हालत में बचेंगे नहीं। कांग्रेस अध्यक्ष का आरोप है कि पीएम ने आठ लाख रुपए की कंपनी में 284 करोड़ रुपए का निवेश कराया था। सिर्फ पीएम ने उस संबंध में फैसले लिए थे।
बकौल राहुल, “दसॉल्ट ने अनिल अंबानी की कंपनी में 284 करोड़ रुपए का निवेश किया। अंबानी ने उसी पैसे से एक जमीन खरीदी। इतना तो साफ है कि दसॉल्ट कंपनी के सीईओ झूठ बोल रहे हैं। वह ऐसी कंपनी में इतनी बड़ी रकम क्यों लगाएंगे, जिससे उन्हें नुकसान हो।”
आगे कांग्रेस अध्यक्ष ने आरोप लगाते हुए बताया, “राफेल एक ओपन एंड शट केस है। यह पीएम मोदी और अनिल अंबानी की साझेदारी है। अगर जांच हुई तो पीएम बचेंगे नहीं। इतना मुझे यकीन है। पहला- क्योंकि उन्होंने भ्रष्टाचार किया है।
दूसरी बात यह है कि हर कोई जानता है कि यह किसका फैसला था। यह मोदी जी का फैसला था और उन्होंने ही ये डील कराई, ताकि अनिल अंबानी को 30 हजार करोड़ रुपए दिए जाएं।”
पत्रकारों से उन्होंने कहा, “दसॉल्ट के सीईओ ने कहा था- चूंकि अनिल अंबानी के पास जमीन थी, लिहाजा यह कॉन्ट्रैक्ट एचएएल को नहीं दिया गया। पर बाद में यह बात सामने आई कि जो रकम दसॉल्ट ने अनिल अंबानी को दी थी, उसी से उन्होंने वह जमीन खरीदी थी।”
इतना ही नहीं, उन्होंने कहा- सुप्रीम कोर्ट ने कीमतों की जानकारी मांगी है, जबकि सरकार कह रही है कि नहीं बता सकते, क्योंकि वे गोपनीय हैं। पर फ्रांस के राष्ट्रपति ने साफ तौर पर कहा है कि राफेल की कीमत गोपनीय समझौते का हिस्सा है ही नहीं।
भ्रष्टाचार हुआ है और वह साफ दिख रहा है। 284 करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार की पहली किश्त साफ तौर पर साबित हो गई है। प्रधानमंत्री को रात को नींद नहीं आ रही है। वह टेंशन में है और पकड़े जाएंगे।
यह भी पढ़ें: ट्रेन से अमृतसर जेल जा रहे बृजेश ठाकुर की तबीयत ट्रेन में हुई खराब, गोरखपुर में हो रहा उपचार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here