दिल्ली में
दिल्ली-एनसीआर के लाखों लोगों को बुधवार को एक और मेट्रो रूट का तोहफा मिलने वाला है। इसके साथ ही दिल्ली मेट्रो एक विश्व रिकॉर्ड भी कायम करेगी।
मेट्रो का ये नया रूट अपने डिजाइन व अन्य खूबियों की वजह से सबसे अनोखा होगा।
मेट्रो की ये लाइन त्रिलोकपुरी संजय झील से लेकर शिव विहार मेट्रो स्टेशन तक है। ये मेट्रो की पिंक लाइन होगी।
डीएमआरसी प्रवक्ता के अनुसार,मेट्रो का ये रूट 17.86 किलोमीटर लंबा है। इस रूट पर कुल 15 मेट्रो स्टेशन हैं। ये पूरा रूट और इसके सभी स्टेशन एलिवेटेड हैं।
इस लाइन के खुलने के बाद दिल्ली मेट्रो का नेटवर्क 313.86 किलोमीटर लंबा हो जाएगा। इसके साथ ही दिल्ली मेट्रो दुनिया के दस सबसे बड़े मेट्रो नेटवर्क में शामिल हो जाएगी।
दिल्ली मेट्रो के लिए ये बहुत बड़ी कामयाबी है। दिल्ली मेट्रो के अनुसार जिस तेजी से अन्य नई लाइनों के निर्माण का कार्य चल रहा है और उसके बाद भी योजनाएं प्रस्तावित हैं।
उससे साफ है कि दिल्ली मेट्रो एक दिन दुनिया के तीन सबसे बड़े मेट्रो नेटवर्क में शामिल हो सकती है।
डीएमआरसी के मुताबिक केंद्रीय शहरी एवं आवास मंत्री हरदीप सिंह पुरी इस मेट्रो लाइन का उद्घाटन करेंगे। इस मौके पर उनके साथ दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी मजूद रहेंगे।
इस मेट्रो लाइन का उद्घाटन मेट्रो भवन से सुबह 9:30 बजे रिमोर्ट कंट्रोल द्वारा किया जाएगा। उद्घाटन के बाद दोपहर दो बजे से ये रूट यात्रियों के लिए खोल दिया जाएगा।
बुधवार को होने वाले उद्घाटन के लिए तैयारियों पूरी कर ली गईं हैं। पूरे मेट्रो स्टेशन को फूलों से सजाया गया है। इस रूट पर बुधवार को चलने वाली मेट्रो ट्रेनों को भी फूलों से सजाया गया है।
उद्घाटन के दौरान किसी तरह की अप्रिय घटना को रोकेने के लिए दिल्ली पुलिस, सीआइएसएफ जवान और मेट्रो के सुरक्षाकर्मी पूरी तरह से मुस्तैद हैं।
त्रिलोकपुरी संजय झील, पूर्वी विनोद नगर-मयूर विहार दो, मंडावली-पश्चिमी विनोद नगर, आइपी एक्सटेंशन, आनंद विहार आइएसबीटी,
कड़कड़डूमा, कड़कड़डूमा कोर्ट, कृष्णा नगर, पूर्वी आजाद नगर, वेलकम, जाफराबाद, मौजपुर-बदरपुर, गोकुलपुरी, जोहरी एनक्लेव और शिव विहार।
मेट्रो के इस रूट की सबसे बड़ी खासियत ये है कि इस पर तीन इंटरचेंज होंगे। पहला इंटरचेंज आनंद विहार (ब्लू लाइन), कड़कड़डूमा (ब्लू लाइन) और
वेलकम (रेड लाइन) होगा। मेट्रो का ये रूट पिंक लाइन, ब्लू लाइन लाइन और रेड लाइन को जोड़ने के लिहाज से काफी अहम माना जा रहा है।
यही नहीं मेट्रो का यह सबसे ज्यादा घुमावदार कॉरिडोर भी है। मेट्रो के 17.86 किलोमीटर लंबे इस कॉरिडोर में 10 तीक्ष्ण मोड़ हैं। खास बात यह कि इस कॉरिडोर पर तीन लूप में मेट्रो का परिचालन किया जाएगा।
जाहिर है कि शिव विहार से त्रिलोकपुरी के लिए सीधी मेट्रो नहीं मिलेगी, मौजपुर में मेट्रो बदलनी पड़ेगी। दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) का दावा है कि 35-38 मिनट में यह सफर पूरा हो सकेगा। इस पर कुल 13 ट्रेनों का परिचालन होगा।
इस रूट के पहले लूप शिव विहार-मौजपुर शिव विहार से त्रिलोकपुरी के बीच आवागमन के लिए यात्रियों को मौजपुर में मेट्रो बदलनी पड़ेगी। शिव विहार से मौजपुर के बीच चार स्टेशन हैं। इस सेक्शन पर तीन मेट्रो ट्रेनें 5:12 मिनट के अंतर से चलेंगी।
शिव विहार से चलने वाली मेट्रो मौजपुर से वापस हो जाएगी। यहां से आइपी एक्सटेंशन व त्रिलोकपुरी के लिए सीधी मेट्रो मिलेगी।
यह भी पढ़ें: STATUE OF UNITY को आज पीएम मोदी देश को करेंगे समर्पित
दूसरा लूप- मौजपुर से आइपी एक्सटेंशन मौजपुर से आइपी एक्सटेंशन के बीच 10 ट्रेने चलेंगी। यहां भी 5:12 मिनट के अंतराल पर म्रेटो का परिचालन किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.