बरेली से
लखनऊ,। उत्तर प्रदेश की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने बरेली जिस से रविवार को तीन करोड़ रुपए की हेरोईन के साथ दो तस्करो को गिरफ्तार किया है।
तस्करों के कब्जे से एक किलो हेरोईन, एक कार, 5200 रुपए दो एटीएम और आईडी कार्ड बरामद हुए हैं। बरामद हेरोइन एक लाख के इनामी तस्कर भोला ने मणिपुर से मंगवाई थी। 
यूपी एसटीएफ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह ने बताया कि पकड़े गए तस्करों में वसीम खान उम्र 23 वर्ष, निवासी ग्राम बेहरा, फरीदपुर, बरेली और नहीम खान उम्र 38 वर्ष, नि0 सैदपुर लश्करीगंज, मोहनपुर, बरेली है। 

इन लोगों को एसटीएफ की बरेली युनिट ने केन्द्रीय नारकोटिक्स ब्यूरो, बरेली के साथ मुखबिर की सूचना पर बरेली के फतेहगंज पश्चिमी क्षेत्र के टोल प्लाजा से गिरफ्तार  किया।
एसएसपी ने बताया कि बरामद एक किलो हेरोईन नारकोटिक्स दिल्ली से 01 लाख के पुरस्कार घोषित तस्कर तैमूर उर्फ भोला ने मणिपुर से हेरोईन मंगाई थी। जिसे वह जो अपने रिश्तेदारों की मदद से हापुड़ पहुँचाना चाहता था। 
उन्होंने बताया कि बरामद हेराईन की कीमत भारतीय बाजार में लगभग 25 लाख तो अन्तर्राष्ट्रीय बाजार मूल्य 03 करोड़ रूपए है।
फांसी पर लटका मिला युवक का शव, परिजनों ने लगाया पत्नी पर हत्या का आरोप
लखनऊ,। राजधानी लखनऊ के कृष्णानगर थाना अंतर्गत करवा चौथ के दूसरे ही दिन रविवार को युवक का शव संदिग्ध अवस्था में फांसी के फंदे पर लटका मिला।
बताया जा रहा है कि करवा चौथ पर पति और पत्नी के बीच विवाद हुआ था। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को नीचे उतारा और पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। परिजनों ने मृतक की पत्नी पर हत्या का आरोप लगाया है।
परिजनों ने मृतक की पत्नी और ससुरालीजनों के खिलाफ तहरीर दी गई है। हालांकि पुलिस का मानना है कि युवक ने घरेलू विवाद के चलते फांसी लगाई है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।
जानकारी के मुताबिक कृष्णा नगर थानाक्षेत्र के बल्दी खेड़ा निवासी मोहित रावत (27) पुत्र स्वर्गीय रमेश रावत अपनी पत्नी प्रीति, 4 वर्षीय बच्चे कृष्णा, मां अंजनी और दो भाई शुभम व राहुल के साथ रहता था।
बताते हैं कि रविवार सुबह मोहित का शव कमरे के अंदर चुनरी के सहारे पंखे के हुक से लटता हुआ मिला। घर वालों ने मोहि तो लटका देखा तो पुलिस को सूचना दी।
मौके पर पहुँची पुलिस ने ट्रामा सेंटर पहुँचाया। जहां इलाज के दौरान चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। 
वहीं परिजनों ने मृतक की पत्नी पर हत्या का आरोप लगाया है। परिजनों का कहना है कि करवा चौथ के दिन ब्रत तुड़वाने को लेकर पति और पत्नी में विवाद हुआ था।
मृतक के परिजनों ने उसकी पत्नी प्रीती और ससुरालीजनों पर हत्या कर शव फंदे से लटकाए जाने का आरोप लगाया है। उधर पुलिस का कहना है कि मृतक के परिजनों ने मामले में पत्नी प्रीती और ससुरालीजनों पर हत्या की तहरीर दी है।
शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है। मामले की जांच की जा रही है। 
आग से झुलसी महिला की उपचार के दौरान मौत
सासनी-हाथरस, । कोतवाली क्षेत्र के गांव में युवती ने दो दिन पूर्व आग लगाकर आत्महत्या का प्रयास किया था। जो आग लगने के कारण करीब अस्सी प्रतिशत जल गई थी।
परिजन उपचार के लिए प्राईवेट चिकित्सक के पास ले गये थे। जहां उपचार के दौरान विवाहिता ने दम तोड दिया।
मिली जानकारी के अनुसार युवती का विवाह करीब तीन माह पूर्व किया था। मगर वह शादी से खुश नहीं थी। वह एक तरफा अपने मौसेरे भाई से प्रेम करती थी।
शादी के बाद उसने ससुराल में क्लेश शुरू कर दी थी। जिसे लेकर ससुराली मायके में छोड गये थे। ससुराली कुछ ही दूरी पर पहुंचे कि युवती ने घर से निकलकर जंगलों की ओर जाकर अपने को मिट्टी का तेल छिडककर आग लगा ली।
जिससे वह बुरी तहर झुलस गई। घटना के बाद परिजनों ने उसका उपचार प्राईवेट चिकित्सक से कराया। उपचार के दौरान युवती ने दम तोड दिया। जिससे उसके परिजनों में कोहराम मच गया।
परिजनों ने बिना पोस्टमार्टम के मृतका के शव का अंतिम संस्कार कर दिया। पुलिस ने मामले से अनभिज्ञता जाहिर की है।
बेटे ने मां व प्रेमी के साथ मिलकर की थी पिता की हत्या, गिरफ्तार
हाथरस, । उत्तर प्रदेश के हाथसर जिले के थाना हाथरस जक्शंन क्षेत्र में बीती 25 अक्टूबर को हुई मोहन सिंह की हत्या का खुलासा करने का दावा किया है।
पुलिस का कहना है कि मोहन की हत्या में उसकी पत्नी, उसका कथित प्रेमी व मृतक का बेटा शामिल है। पुलिस ने बेटे को गिरफ्तार  करते हुए उसके कब्जे से हत्या में प्रयुक्त छूरा और ई-रिक्शा बरामद किया है। 
बता दे कि बीती 25 अक्टूबर को हाथरस जक्शंन क्षेत्र के सलेमपुर आर्मी मैदान के गड्ढे में एक शख्स की लाश मिली थी। जिसकी पहचान दो दिन बाद मृतक के भाई किशनपाल ने अपने भाई मोहन सिंह के रुप में की थी।

पुलिस ने उसकी तहरीर पर हत्या समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया था।
रविवार को थाना जंक्शन पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर मृतक के बेटे गौरव सिंह को क्षेत्र के मेण्डू अड्डे के पास से गिरफ्तार कर लिया। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि
मोहन सिंह की हत्या बेटे गौरव ने अपनी मां सुधा देवी व मां के प्रेमी बबलू के साथ मिलकर की थी। हत्या के बाद यह लोग मोहन सिंह के शव को सलेमपुर के पास गड्ढे के किनारे फेंक आए थे।
पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त चाकू भी बरामद कर लिया है। पुलिस का कहना है कि मृतक की पत्नी चार साल पहले पति को छोड़ कर प्रेमी के साथ दिल्ली में रह रही थी। यहां करंट लगने से बेटे की मौत होने पर वह प्रेमी संग आई थी।
तभी उसने मोहन सिंह से छुटकारा पाने के लिए हत्या की योजना बनाई। उन्होंने बताया कि मोहन सिंह अपने बेटे गौरव को मारता-पीटता था।
इसी के चलते गौरव भी मां के साथ मिल गया और पिता की हत्या कर दी। फिर मां के प्रेमी संग मोहन सिंह के शव को सलेमपुर आर्मी मैदान के एक गड्ढे में फेंक दिया।
यह भी पढ़ें: अब वरासत-हैसियत के लिए नहीं भटकेंगे आवेदक,ऑनलाइन सेवा शुरू
पुलिस आरोपी सुधा और उसके प्रेमी बबलू की तलाश में जुटी है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.