कंपनी ने
वेस्ट योकशायर स्थित विशबोन ब्रूअरी लिमिटेड ने पिछले महीने मैनचेस्टर में बीयर उत्सव में भारतीयों को आर्किषत करने के लिए उनके स्वाद के हिसाब से नींबू, धनिया, अंगूर और बाबूने के फूल (कैमोमिल) से तैयार बीयर का नाम ‘‘गणेश’’ रखा था।
उत्तरी इंग्लैंड में बीयर बनाने वाली एक कंपनी ने शुक्रवार को पुष्टि की कि वह कुछ महीने पहले बनाई गई अपनी विशेष बीयर के ब्रांड नेम ‘गणेश’ को वापस ले रही है।
विशबोन ब्रूअरी के मुख्य ब्रूअर एड्रियन चैपमेन ने कहा, ‘‘हम इसके निहितार्थ से बिलकुल अंजान थे। हमने इसे बस एक शब्द के तौर पर इस्तेमाल किया जो भारत एवं भारतीयों की पसंद को दर्शाए।
हमारी मंशा कोई नाराजगी पैदा करने की नहीं थी और हम निश्चित तौर पर इसका इस्तेमाल नहीं करेंगे।’’
अमेरिका की यूनिवर्सल सोसाइटी ऑफ हिंदुइज्म के अध्यक्ष राजन जेद समेत अन्य लोगों ने हिंदू भगवान का नाम बीयर ब्रांड के तौर पर रखे जाने पर आपत्ति जताई थी।
उन्होंने कहा, ‘‘हमें जैसे ही पता चला कि इस नाम से सांस्कृतिक भावनाएं आहत हो सकती हैं हमने फौरन फैसला लिया कि भविष्य में इसका इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।’’
बता दें कि, विदेश में यह ऐसा पहला मामला नहीं है। इससे पहले ई कॉमर्स वेबसाइट अमेजन ने सारी हदें पार करते हुए हिन्दू धार्मिक लोगों की भावनाओं को आहत की है।
अमेजन ने अपनी साइट पर भगवान हनुमान की फोटो लगी लेडिस लेगिंग बेची थीं। लेगिंग पर ग्राहकों ने कड़ी आपत्ति जताते हुये इसे हटाने की मांग की है। गुस्साएं हिंदुओं ने इसे शर्मनाक हरकत कही है।
अमेज़न द्वारा ही भारतीय झंडे तिरंगे जैसा डोरमेट (पायदान) बेचने पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने अमेजन के खिलाफ सख्त रुख अख्तियार किया था।
यह भी पढ़ें: ये हैं 150cc तक की 3 सबसे सुरक्षित मोटरसाइकिल्स
उन्होंने कड़ी चेतावनी देते हुए अमेजन कनाडा से तिरंगे जैसा डोरमेट हटाने और बिना शर्त माफी मांगने को कहा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here