कुंभ
इस बार कुंभ मेले में रोडवेज ने कुछ खास किया है।  आध्यात्मिक नगरी प्रयागराज के लिए भारतीयता के रंग से ओतप्रोत परिवहन निगम ने धार्मिकता की ओर कदम बढ़ाए हैं।

 

बसों पर राष्ट्रीय ध्वज के केसरिया, सफेद और हरे रंग का समावेश कर अध्यात्मिकता का संदेश देने की कोशिश की है।
तीर्थराज ले जाने के लिए इस बार 51 बसें श्रद्धालुओं को सफर कराने के लिए लगाई जा रही हैं। इन बसों में ‘चलो कुंभ चलें’ अंकित होगा।
परिवहन निगम के प्रबंध निदेशक पी. गुरुप्रसाद ने बताया कि कुंभ शटल सेवा के लिए 51 बसें तैयार हो गई हैं। प्रयागराज के लिए इनका फ्लैग ऑफ किया जाना है।
प्रयागराज, कानपुर, गोरखपुर, वाराणसी क्षेत्र को दस-दस बसें और लखनऊ रीजन को 11 बसें आवंटित की जाएंगी।
यह विशेष बसें निश्चित तौर पर श्रद्धालुओं को कुंभ का अहसास कराएंगी।
तीर्थराज कुंभ की ओर ले जाने वाली बसें 51 नई बसें बनकर तैयार हो गई हैं। इन्हें कुंभ शटल सेवा का नाम दिया गया है।
बसों की लागत करीब साढ़े 12 करोड़ रुपया है। 29 अक्टूबर को मुख्यमंत्री इन बसों को कालीदास मार्ग स्थित अपने आवास के जनता दरबार से फ्लैग ऑफ करेंगे।
यह भी पढ़ें: ट्रेनयात्रियों की जान है इनके नशे की कीमत या कोई साजिश!
कानपुर से यह सभी बसें शनिवार तक मुख्यालय पहुंच जाएंगी। रविवार तक तकनीकी टीम इनका परीक्षण कर लेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here