प्रदेश अध्यक्ष
शुक्रवार को कांग्रेस के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने शहर के हजरतगंज स्थित उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के सीबीआइ हेडक्वार्टर का घेराव किया। कांग्रेसियों की अगुवाई प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने की। तख्ती लेकर दर्जनों की संख्या में कार्यकर्ता सीबीआइ हेडक्वार्टर के बाहर जमा हुए।
बुलंद आवाज में सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने हल्ला बोला। इस दौरान हेडक्वार्टर के बाहर भारी सुरक्षा तैनात किया गया। बैरिकेडिंग लगाकर पुलिस ने कार्यकर्ताओं को रोका।

वहीं अराजकता फैलाने के आरोप में पुलिस कांग्रेसियों के खिलाफ हजरतगंज थाने में मुकदमा दर्ज करेगी। सहारागंज चौकी इंचार्ज राहुल सोनकर की तरफ से मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।
घेराव की अगुवाई कर रहे प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर समेत प्रदर्शन कर रहे कई कांग्रेसियों को गिरफ्तार किया गया। वहीं पर्याप्त संख्या में बस का इंतजाम न होने के कारण राजबब्‍बर समेत कई कार्यकर्ता पैदल ही पुलिस लाइन के लिए रवाना हुए।

इस दौरान राज बब्बर ने सीबीआइ को मुक्त करो के नारे लगाए। कांग्रेसियों ने केंद्र व प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।
सीबीआइ के निदेशक और विशेष निदेशक को छुट्टी पर भेजे जाने के विरोध में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश भर में सीबीआइ के ऑफिस के बाहर कांग्रेसी कार्यकर्ताओं से प्रदर्शन करने का आवाह्न किया है।

राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि सीबीआइ निदेशक राफेल घोटाले की जांच करने के लिए कागजात इकट्ठा कर रहे थे, इसलिए उन्हें हटा दिया गया। यह पूरी तरह असंवैधानिक है।
गौरतलब हो कि सीबीआइ मुख्यालय की अंदरुनी लड़ाई सुप्रीम कोर्ट पहुंचने के बाद कांग्रेस ने केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।
सीबीआइ मुख्यालय की अंदरुनी लड़ाई जाहिर होने पर सीबीआइ निदेशक आलोक वर्मा और सीबीआइ के
विशेष निदेशक राकेश अस्थाना को केंद्र सरकार ने छुट्टी पर भेज दिया।
यह भी पढ़ें: पूर्व विधायक गंगा सिंह SC-ST कानून को लेकर अनशन पर बैठे
सीबीआइ के निदेशक और विशेष निदेशक को छुट्टी पर भेजे जाने के विरोध में कांग्रेस देश भर में प्रदर्शन कर रही है। कांग्रेस का कहना है कि निदेशक को छुट्टी पर भेजा जाना गलत है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.