खुलासा
हमारे समाज में अपराध की कई ऐसी कहानियां मौजूद हैं जिसमें अपराधी ने वहशीपन की सारी हदें पार कर दी हैं। इनमें से कुछ अपराध ऐसे हैं जो भले ही सालों पहले किए गए हों लेकिन उसकी भयावता बरसों बाद भी इंसान के रोंगटे खड़ी कर देती हैं।
7 मई साल 2008 को मुंबई में एक ऐसे ही हत्याकांड को अंजाम दिया गया था जिसमें अपराधी ने लाश के सैकड़ों टुकड़े कर उसे आग के हवाले कर दिया था। हम यहां बात कर रहे हैं चर्चित नीरज ग्रोवर हत्याकांड की।
नीरज ग्रोवर एक प्रोडक्शन हाउस में बतौर मीडिया एग्जक्यूटिव काम करते थे। उस वक्त मारिया सुसीराज कन्नड़ फिल्मों में अभिनेत्री के तौर पर संघर्ष कर रही थीं और नीरज, मारिया को उनके प्रोफेशनल लाइफ में मदद कर रहे थे।
कहा जाता है कि उस साल 6 मई को मारिया सुसीराज मलाड में अपने नये अपार्टमेंट में शिफ्ट हो रही थीं। नीरज उस दिन सुसीराज की मदद कर रहे थे और इस दिन नीरज ने तय किया की वो सुसीराज के नए घर में ही रुकेंगे।
इस केस की जांच करने वाली पुलिस ने उस वक्त बतलाया था कि अगले दिन यानी 7 मई को मारिया सुसीराज का मंगेतर मैथ्यू जेरोम अचानक इस घर में आ पहुंचा।
मैथ्यू नेवी में लेफ्टिनेंट ऑफिसर था। मारिया के बेडरुम में नीरज को देख मैथ्यू आगबबूला हो गया। मैथ्यू ने घर में रखे चाकू से नीरज पर हमला कर दिया।
उस वक्त दोनों के बीच झड़प हुई थी। लेकिन मैथ्यू ने नीरज पर धारदार चाकू से इतने हमले किये कि उसकी वहीं मौत हो गई।
इसके बाद मारिया और मैथ्यू ने मिलकर नीरज की लाश के 300 टुकड़े कर तीन अलग-अलग थैलों में भर दिया। इतना ही नहीं यह भी कहा जाता है कि उस दिन नीरज की हत्या के बाद मारिया सुसीराज ने उसी फ्लैट में अपने मंगेतर के साथ दो बार संबंध भी बनाए।
इन दोनों ने नीरज के लाश के टुकड़े कर उसे एक सुनसान जंगल में ले जाकर जला दिया। उस वक्त शुरू में तो इस मर्डर केस को लेकर सिर्फ कयासबाजी चल रही थी लेकिन पुलिस की कड़ी पूछताछ में मारिया ने खुलासा किया कि
उस दिन मैथ्यू ने नीरज ग्रोवर के शव के टुकड़े-टुकड़े कर दिये। इस दर्दनाक मर्डर केस को लेकर मीडिया में भी काफी चर्चा हुई थी। बाद में यह केस अदालत तक पहुंचा और अदालत ने मैथ्य को गैरइरादतन हत्या का दोषी पाया जबकि मारिया को सबूत मिटाने का।
पुलिस की जांच में जो खुलासे हुए थे उसके बारे में पुलिस ने सिलसिलेवार बतलाया भी था। जिसके मुताबिक 6 मई की रात करीब 9.30 बजे मारिया ने घर शिफ्ट करते वक्त नीरज ग्रोवर को मदद के लिए बुलाया था।
-रात 10 बजे ग्रोवर वहां पहुंचा और उसने मारिया की मदद भी की।
करीब 10.30 बजे जब मैथ्यू ने मारिया को फोन किया तो उसने घर में ग्रोवर की आवाज फोन पर सुनी।
जिसके बाद सुसीराज ने पूछने पर मैथ्यू को सारी बातें बतलाई और कहा कि नीरज उसके फ्लैट पर ही है।
-रात करीब 11.30 बजे मैथ्यू ने दोबारा मारिया को फोन किया और कहा कि वो नीरज को अभी घर से बाहर कर दे लेकिन मारिया ने अपना फोन स्विच ऑफ कर दिया।
-अगले ही दिन सुबह 7.30 बजे मारिया के घर के बाहर मैथ्यू ने दस्तक दी।
-कहा जाता है कि मैथ्यू ने मारिया के बेडरूम में नीरज को नग्न अवस्था में देखा और उसका गुस्सा सांतवें आसमान पर पहुंच गया। मैथ्यू ने रसोईघर में रखे चाकू से नीरज पर तुरंत हमला बोल दिया और चाकू से घोंप कर उसकी हत्या कर दी।
-सुबह करीब 8.30 बजे मैथ्यू और मारिया ने संबंध बनाए।
-इस दिन सुबह 9 बजे दोनों ने लाश को ठिकाने लगाने के बारे में चर्चा की।
-इसके बाद मारिया Hypercity mall गई और उसने एक बड़ा सा चाकू और तीन थैले खऱीदे।
-दोपहर 2 बजे दोनों पास स्थित एक रेस्टोरेंट में गए और वहां लंच भी किया।
-इसी दौरान उन्होंने अपने एक दोस्त की गाड़ी भी ली ताकि लाश को ठिकाने लगाया जा सके।
-करीब 6 बजे उन्होंने बैग में भरे नीरज ग्रोवर की लाश के टुकड़ों को कार में डाला और
उसे जलाने के लिए जंगल की तरफ चले गए।
यह भी पढ़ें: कानपुर: सिपाही ने फरियादी को बुरी तरह पीटा, निलम्बित
-करीब 7.30 बजे जंगल में लाश को जलाकर यह घर वापस आ गए।
-रात करीब 9.30 बजे इन दोनों ने दोबारा संबंध बनाया।
-इसके बाद अगले दिन मैथ्यू सुबह 12.30 बजे फ्लाइट से कोच्चि चला गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.