ईडी
पी. चिदंबरम पर एयरसेल-मैक्सिस केस में प्रवर्तन निदेशालय ने शिकंजा कस दिया है। ईडी ने पटियाला हाउस कोर्ट में सप्लीमेंट्री चार्जशीट गुरुवार को फाइल कर दी है। मामले में नौ आरोपी बनाए गए हैं। इनमें  चिदंबरम का नाम सबसे ऊपर है।
पटियाला हाउस कोर्ट में इस मामले की सुनवाई अब सुनवाई 26 नवंबर को होगी। इससे पहले दिल्ली हाईकोर्ट ने आज सुबह (25 अक्टूबर) चिदंबरम को INX मीडिया केस में थोड़ी राहत दी थी। मामले में चिदंबरम की अंतरिम प्रोटेक्शन कोर्ट ने बढ़ाकर 29 नवंबर तक कर दी है।
इससे पहले दिल्ली की एक अदालत ने सीबीआई और ईडी की ओर से दाखिल एयरसेल-मैक्सिस मामले में पी.चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति की गिरफ्तारी की छूट की अवधि को एक नवंबर तक बढ़ा दिया था।
प्रवर्तन निदेशालय की दायर की चार्जशीट के बाद कांग्रेस ने पार्टी के वरिष्ठ नेता चिदंबरम को जान बूझकर मामले में फंसाने का आरोप लगया है। कांग्रेस नेता हरीश रावत ने कहा, ईडी सरकार की कही बात मानता है और अगर कोई सरकार के खिलाफ बोलता है उसके खिलाफ केस कर दिया जाता है।
बीते 19 जुलाई को सीबीआई ने चिदंबरम और उनके बेटे के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल किया था। सीबीआई इस बात की जांच कर रही है कि
2006 में पी चिदंबरम के वित्त मंत्री के पद पर रहते हुए कैसे एक विदेशी कंपनी को विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड की मंजूरी दिला दी गई। जबकि ऐसा करने का अधिकार सिर्फ कैबिनेट के आर्थिक मामलों की समिति को ही है।
ईडी मामलों में विशेष अदालत ने धन शोधन निवारण कानून (पीएमएलए) के तहत कार्ति की संपत्ति कुर्क करने के लिए आदेश जारी किया था। इस आदेश के तहत तमिलनाडु के कोडाईकनाल और ऊटी में कृषि भूमि और एक बंगला कुर्क किया गया था।
दिल्ली के जोरबाग स्थित 16 करोड़ रुपए मूल्य का एक फ्लैट भी कुर्क किया गया था, जो कार्ति और उनकी मां नलिनी के नाम पर है। ईडी का कहना था कि इस संपत्ति में कार्ति की 50 फीसद हिस्सेदारी है।
यह भी पढ़ें: बीजेपी विधायक ने अधिकारी को दी धमकी, अगर एक थप्पड़ मारा तो पैंट में पेशाब कर दोगे।
ईडी ने ब्रिटेन के समरसेट में एडवांटेज स्ट्रैटेजिक कंसलटिंग प्राइवेट लिमिटेड (एएससीपीएल) के मालिकाना हक वाले 8.67 करोड़ रुपए मूल्य का कॉटेज और स्पेन के बार्सिलोना में करीब 14.57 रुपए मूल्य का टेनिस क्लब भी कुर्क किया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here