मकान मालिक
अलीगढ़, । थाना सासनी गेट क्षेत्र में मकान मालिक की दबंगई से परेशान एक व्यक्ति ने जहर खाकर जान दे दी। अहम बात यह है कि व्यक्ति ने मरने से पहले एसएसपी अजय साहनी से मुलाकात की थी और

 

अपनी पीड़ा बताई थी। उसी समय व्यक्ति की तबियत खराब हो गई। एसएसपी ने आनन-फानन अपनी गाड़ी से जिला मलखान सिंह अस्पताल उपचार के लिए भिजवा दिया,
लेकिन तबियत ज्यादा खराब होने पर जेएन मेडिकल रेफर कर दिया जहां उपचार के दौरान व्यक्ति की मौत हो गई।

फरियादी उमाशंकर शर्मा  (38) पुत्र रामपाल शर्मा निवासी डंडेश्वरी सिकंदराराऊ जनपद हाथरस अलीगढ़ के एसएसपी अजय कुमार साहनी मिलने गए थे।
उनके कार्यालय पहुंचते ही हालत गंभीर होने लगी। हालात देखते हुए एसएसपी ने अपनी गाड़ी से पीडि़त को जिला अस्पताल भिजवा दिया।
जहां से उसे मेडिकल रेफर कर दिया। मेडिकल में डॉक्टरों ने उमाशंकर को मृत घोषित कर दिया है।
मजबूर होकर व्यक्ति ने उठाया यह कदम
मृतक उमाशंकर की पत्नी निरमेश देवी ने बताया कि कुछ महीने पहले वह खिरनी गेट पुलिस चौकी क्षेत्र में किराए के मकान में रहती थी।
मकान में बिजली विभाग की विजिलेंस टीम ने छापा मारा था, जिसमें मकान मालिक को 20 हजार का जुर्माना देना पड़ा था। मकान मालिक का कहना था कि यह जुर्माना उनकी वजह से लगा है इसलिए दिए रुपया उन्हें देना पड़ेगा।
मजबूर होकर पति उमाशंकर ने सासनी गेट एडीए कॉलोनी निवासी एक व्यक्ति से रुपये उधार लिए थे, जो उसने ब्याज पर दिए थे।
यह भी पढ़ें: UP विधानपरिषद सभापति रमेश यादव के बेटे की हत्या, मां ने गुनाह कबूला
वह उसे रुपये वापस करने के लिए लगातार धमका रहा था। इससे परेशान होकर उमाशंकर सोमवार को एसएसपी दफ्तर पर पहुंचे थे। उन्हें नहीं पता उनके जहर खाया है या नहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.