पूर्व BSP
दिल्ली के एक पांच सितारा होटल में पिस्टल के दम पर दबंगई दिखाने वाले आशीष पांडेय ने घटना पर एक वीडियो जारी करने के बाद पटियाला हाउस कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। होटल हयात में हंगामा मचाने के बाद आशीष के खिलाफ गैरजमानती वारंट जारी हो गया था।
साथ ही पुलिस ने पिस्टल का लाइसेंस रद्द करने की भी सिफारिश कर दी है।
4 अक्टूबर की घटना के बाद से फरार चल रहे आशीष ने मामले पर अपनी सफाई वीडियो के जरिए दी है। वीडियो संदेश जारी करते हुए उसने कहा है कि इस मामले में सिर्फ एक पक्ष को ही सुना जा रहा है। आशीष ने कहा कि उसने लड़की के साथ कोई गलत व्यवहार नहीं किया।
आशीष पांडे ने बयान जारी कर कहा, ‘मेरे पास 20 सालों से लाइसेंसी पिस्टल है। लेकिन मैंने किसी के साथ कोई अभद्रता आज तक नहीं की। मैं कोर्ट में सरेंडर करूंगा, लेकिन मेरी लोगों से अपील है कि पहले सीसीटीवी फुटेज देख लें, उसके बाद निष्कर्ष निकालें।’
उसने आगे कहा, ‘मुझे ऐसे दिखाया जा रहा है जैसे मैं कोई आतंकी हू्ं। मेरे खिलाफ मीडिया ट्रायल किया गया। पूरे मामले में मेरी कोई गलती नहीं। मुझे न्यायिक प्रक्रिया पर पूरा भरोसा है।

आशीष के सरेंडर करने से पहले इस मामले पर एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) आनंद कुमार ने बताया था कि पूरे मामले में दिल्ली पुलिस की टीम का यूपी पुलिस सहयोग कर रही है।
यूपी एसटीएफ भी संभावित जगहों पर छापेमारी कर सही थी। वहीं दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने आरोपी आशीष पांडे के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया था।
आनंद कुमार ने बताया था कि, आशीष के पिस्टल का लाइसेंस रद्द करने की सिफारिश की जा चुकी है। आरोपी के नाम से 1999 में अंबेडकरनगर जिले से एक पिस्टल का लाइसेंस जारी हुआ था।

यह भी पढ़ें: खौफनाक: एक तांत्रिक दंपती ने अपने चार वर्षीय बेटे के सिर में कील ठोक कर उसकी बलि दे दी।

साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि हयात होटल में आरोपी आशीष पांडे ने जो पिस्टल लहराई क्या ये वही थी ये अभी साफ नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here