देवेंद्र सिंह
बुलंदशहर। स्याना कोतवाली इलाके में बीते तीन दिसंबर को हुई हिंसा के मामले में पुलिस ने इंस्पेक्टर की हत्या के मुख्य आरोपी प्रशांत नट को गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन भाजपा विधायक देवेंद्र सिंह लोधी ने चौंकाने वाला दावा किया है।
विधायक का कहना है कि, इंस्पेक्टर सुबोध ने खुद को गोली मारी थी। दावा किया कि जब इंस्पेक्टर सुबोध सिंह भीड़ में घिर गए थे तो
बचाव में उन्होंने अपने कंधे में गोली मारने की कोशिश की, लेकिन गलती से गोली उनके सिर में जा लगी। जिससे उनकी मौत हो गई।
विधायक देवेंद्र सिंह ने कहा कि कुछ लोगों को इसमें बेवजह फंसाया जा रहा है। हिंसा के दौरान सबके पास हथियार नहीं थे। इंस्पेक्टर को एक ही गोली लगी थी।
मालूम हो कि यहां गोकशी के बाद भड़की हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार व एक युवक सुमित की हत्या हुई थी। पुलिस ने इस मामले में 27 नामजद और
करीब 65 अज्ञात लोगों पर केस दर्ज किया था। 22 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। छह आरोपियों ने कोर्ट में सरेंडर किया।
पहले भी दे चुके हैं विवादित बयान
विधायक देवेंद्र सिंह लोधी इससे पहले भी विवादित बयान दे चुके हैं। उन्होंने हिंसा के बाद कहा था कि हिंसा भड़काने में गांव वालों का कोई हाथ नहीं था।
वह तो सिर्फ शिकायत लेकर थाने गए थे। पुलिस ने उस पर ध्यान नहीं दिया। हिंसा भड़कने पर इंस्पेक्टर सुबोध ने लोगों पर गोली चला दी। इस मामले में प्रशासन ने लापरवाही बरती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here